2014 से पहले देश में 387 मेडिकल कालेज थे,अब 596 हो गये हैं: मोदी Before 2014, there were 387 medical colleges in the country, now it has become 596: Modi


                                                  





                                                        सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो 

नयी दिल्ली ।  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को वर्चुअल माध्यम से तमिलनाडु में एक साथ 11 मेडिकल कालेजों का उदघाटन किया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह पहला मौका है जब किसी एक राज्य में एक साथ 11 मेडिकल कालेज शुरू किए गए। इससे पहले श्री मोदी ने उत्तर प्रदेश में एक साथ नौ मेडिकल कालेजों का उद्घाटन किया था। उन्होंने कहा,“ मैंने अपना ही रिकॉर्ड तोड़ दिया। ”

इस मौके पर केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री स्टालिन भी मौजूद थे।
श्री मोदी ने पोंगल और मकर संक्रांति की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि देश में कमजोर स्वास्थ्य सेवाओं और मेडिकल कालेजों की कमी से सभी परिचित हैं, लेकिन पूर्ववर्ती सरकारों ने इस पर ध्यान नहीं दिया। हमारी सरकार ने इस पर गंभीरता से काम किया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि साल 2014 से पहले देश में केवल 387 मेडिकल कालेज थे, जो अब बढ़कर 596 मेडिकल कालेज हो गए हैं। तमिलनाडु के इन नये 11 मेडिकल कालेजों से एमबीबीएस की 1450 सीटें बढ़ेंगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने मेडिकल शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठाए हैं। देश में बढ़ती स्वास्थ्य सेवाओं का जिक्र करते हुए श्री मोदी ने कहा कि गरीबों को आयुष्मान योजा से बेहतर इलाज मिल रहा है। हमारी कोशिश स्वास्थ्य सेवाओं को ग्रामीण और दूरदराज क्षेत्रों तक पहुंचाने की कशिश हो रही है। भारत के पास मेडिकल हब बनने की क्षमता है श्री मोदी ने कहा कि भविष्य उनका ही है जो समाज स्वास्थ्य शिक्षा पर ध्यान देता है।

प्रधानमंत्री ने इस मौके पर केन्द्रीय शास्त्रीय तमिल संस्थान का उदघाटन भी किया। श्री मोदी ने कहा कि नए परिसर से दुनिया भर में तमिल संस्कृति को बढ़ावा मिलेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि नई शिक्षा नीति में भारतीय भाषाओं के बढ़ावा दिया जा रहा है।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment