मंडलायुक्त ने विकास कार्यो का हाल जान तेजी लाने के दिए निर्देश Mandalayukta directed to speed up the development work




  • अधिकारी स्वयं करें निर्माण कार्यों की जांच, निर्माण कार्यों में रखें गुणवत्ता व समयबद्धता का विषेष ध्यान-आयुक्त

  • आयुक्त ने मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा की गयी घोषणाओं के कार्यों की धीमी प्रगति पर किया असंतोष व्यक्त

  • मंडल में रू0 66 अरब से अधिक लागत की 239 परियोजनाएं स्वीकृत 

  • मंडल में 107 दंपत्तियों के घर गुजेंगी शहनाई, जल्द होगा मुख्यमंत्री सामुहिक विवाह का आयोजन

                                                        सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो 



                                                                                     
मेरठ ।  आयुक्त सभागार में मंडलीय विकास कार्यों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुये आयुक्त अनीता सी0 मेश्राम ने अधिकारियों को निर्देषित किया कि वह विकास कार्यों में तेजी लाये। उन्होने कहा कि अधिकारी स्वयं निर्माण कार्यों की जांच करें तथा निर्माण कार्यों में गुणवत्ता व समयबद्धता का विषेष ध्यान रखा जाये। उन्होने मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा की गयी घोषणाओं के कार्यों की धीमी प्रगति पर अपना असंतोष व्यक्त करते हुये मंडल के सभी जिलाधिकारियों को उनकी ओर से पत्र प्रेषित करने के लिए कहा।

आयुक्त अनीता सी0 मेश्राम ने समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुये प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में डाटा सुधार के कार्यों को जल्द से जल्द पूर्ण कर पात्रों को योजना का लाभ पहंुचाने के लिए निर्देशित किया। उन्होने कहा कि निराश्रित गौवंशों के लिए बनाये गये गौआश्रय स्थलों का उपयोग ठीक प्रकार से किया जाये। जिस गौशाला में कम गौवंश है उनको दूसरी जगह स्थानांतरित किया जाये।



आयुक्त ने कहा कि मेरठ मंडल मे कोई बर्ड फ्लू (एवियन इन्फ्लूएन्जा) का कोई भी केस प्रकरण सामने नहीं आया है। उन्होने कहा कि आमजन से अपील की जाये कि जिस किसी स्थान पर अधिक संख्या में पक्षी बिना कारण मर रहे हो तो इसकी सूचना स्थानीय इंटीग्रेटेड कमांड कंट्रोल रूम को दें। उन्होने निर्देशित किया कि राशन की जो दुकाने रिक्त है उनको जल्द से जल्द भरा जाये ताकि आमजन को सहूलियत हो।

आयुक्त ने निर्देशित किया कि सामुदायिक शौचालयों के निर्माण कार्यों को मुख्य विकास अधिकारी स्वयं अथवा अधिकारियों की डयूटी लगाकर उसका आॅडिट कराये, सैम्पल लेकर जांच कराये तथा इस संदर्भ में सभी मुख्य विकास अधिकारी दो सप्ताह के अंदर अपनी आख्या उन्हें उपलब्ध कराये। उन्होने कहा कि राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल मिशन अंतर्गत बनायी जा रही पाईप पेयजल योजनाओं में ग्रामीणो को पानी के कनेक्शन उपलब्ध कराये जाये व शुद्ध जल की आपूर्ति सुनिश्चित की जाये।

आयुक्त ने आईजीआरएस प्रकरणों को प्राथमिकता पर निस्तारित करने के लिए कहा। उन्होने रू0 50 लाख से अधिक की परियोजनाओं (सडक छोडकर), रू0 50 करोड से अधिक लागत की निर्माणाधीन परियोजनाओं, मा0 सांसद स्थानीय क्षेत्र विकास योजनान्तर्गत कराये जा रहे कार्यों की भी समीक्षा की।

संयुक्त विकास आयुक्त डा0 आर0के0 गौतम ने बताया कि मुख्यमंत्री सहभागिता योजनान्तर्गत पशुपालको को मंडल में 6026 गौवंश पालने के लिए दिये गये है। उन्होने बताया कि मंडल में 35517 गौवंशीय व महीशवंशीय पशुओ का ईयर टैगिंग किया जा चुका है। उन्होने बताया कि आयुषमान भारत गोल्डन कार्ड योजनान्तर्गत मंडल में कुल लाभार्थी परिवार 715242 है तथा कुल लाभार्थी 3540255 है। उन्होने बताया कि मंडल में 2197 सामुदायिक शौचालयो के निर्माण का लक्ष्य है जिसमें से 1582 पूर्ण हो गये है।

उन्होने बताया कि मंडल में प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण अंतर्गत 633 आवासों का लक्ष्य है। उन्होने बताया कि मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के अंतर्गत 461 लक्ष्य के सापेक्ष 354 दंपत्तियों के सामूहिक विवाह कराये जा चुके है 107 दंपत्तियों के विवाह के लिए भी आयोजन किया जायेगा। उन्होने बताया कि मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजनान्तर्गत मंडल में 21134 लाभार्थी है जिनको रू0 432.22 लाख दिये जा चुके है। उन्होने बताया कि मंडल की 16 चीनी मिलो ने गत पेराई सत्र का 86.40 प्रतिशत भुगतान कर दिया है।

उन्होने बताया कि रू0 50 लाख से अधिक के निर्माणाधीन कार्यों में (सडको को छोडकर) रू0 3746.42 करोड की 224 परियोजनाओं के कार्यों में से 36 का कार्य पूर्ण हो गया है। उन्होने बताया कि रू0 50 करोड से अधिक लागत की निर्माणाधीन परियोजनाओं में मंडल में रू0 2884.08 करोड की 15 परियोजनाएं है जिनमें से 11 पर कार्य प्रारंभ हो गया है। उन्होने बताया कि मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा की गयी घोषणाओ के कार्यों में से 80 का कार्य पूर्ण हो गया है 20 निर्माणाधीन है 34 अनारंभ है। उन्होने बताया कि मा0 संासद निधि के कार्यों में से 2178 कार्यों में से 1298 कार्य पूर्ण हो गये है।

इस अवसर पर सीडीओ मेरठ ईशा दुहन, बुलंदशहर अभिषेक पाण्डेय, गौतमबुद्ध नगर अनिल कुमार सिंह, बागपत अभिराम त्रिवेदी, हापुड उदय सिंह, संयुक्त आयुक्त खाद्य सत्यदेव, उप निदेशक उद्यान पंकज कुमार, उप निदेशक संाख्यिकी सुहेब अहमद सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment