अपराधियों के साथ खड़ी है उत्तर प्रदेश सरकार, बर्खास्त किया जाए: कांग्रेस Uttar Pradesh government stands with criminals, be dismissed: Congress


                                                           सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो 




नयी दिल्ली। कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में अपराध की हालिया घटनाओं को लेकर बुधवार को आरोप लगाया कि राज्य में अपराधियों के हौसले बुलंद हैं क्योंकि वहां की सरकार उनके साथ खड़ी है। पार्टी प्रवक्ता पवन खेड़ा ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार को राज्य सरकार को बर्खास्त करना चाहिए ताकि अपराधियों को एक सख्त संदेश दिया जा सके। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हाथरस में लड़की के साथ सामूहिक बलात्कार की घटना के बाद फिर पांच साल की एक बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ है। इससे यह साबित हो रहा है कि पिछले तीन साल में सरकार ने यह माहौल बना दिया है जिसमें अपराधी आश्वस्त हैं कि उनका कोई बाल बांका नहीं कर सकता।’’

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘गोंडा में तीन बच्चियों पर तेजाब से हमला किया गया। अलीगढ़ में एक पुजारी की हत्या कर दी गई। पिछले दिनों बागपत की नहर में दो साधुओं के शव मिले। आखिर क्या कारण है कि इतना बड़ा प्रदेश ऐसी सुर्खियों में बना हुआ है, जिससे हम सब शर्मसार हैं।’’ खेड़ा ने एनसीआरबी के आंकड़ों का हवाला देते हुए दावा किया, ‘‘ उत्तर प्रदेश हत्या और बलात्कार के मामले में नंबर 2 पर है। आत्महत्या के मामले में उप्र शीर्ष पर है, एसिड अटैक में आगे है, धोखाधड़ी और अपहरण के मामले में शीर्ष पर है।’’ उन्होंने यह भी कहा, ‘‘समस्त राज्यों के मुक़ाबले उत्तर प्रदेश महिलाओं के खिलाफ अपराध के आंकड़े में सबसे ऊपर है। साल 2019 के डेटा के अनुसार लगभग 60 हज़ार मामले सामने आए हैं।’’ 

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, ‘‘शर्म आती है ये सब देखकर कि इतने बड़े और महत्वपूर्ण प्रदेश की ये हालत कर दी गयी है। पहली बार यह देखने को मिल रहा है कि एक चुनी हुई सरकार, राष्ट्रीय पार्टी की सरकार खुलेआम अपराधियों का पक्ष लेती हुई नज़र आई।’’ उन्होंने दावा किया, ‘‘यह बहुत चिंता की बात है कि उत्तर प्रदेश में अपराधियों के हौसले बुलंद हैं क्योंकि उनके साथ वहां की सरकार खड़ी है।’’ खेड़ा ने कहा, ‘‘जिस तरह से उत्तर प्रदेश में अपराध बढ़ रहे हैं उसमें केंद्र सरकार को एक सख्त संदेश देना होगा। प्रदेश की सरकार को बर्खास्त करना चाहिए ताकि अपराधियों को सख्त संदेश जाए।

Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment