शुक्रवार की रात में दो पक्षों में हुई मारपीट और पत्थरबाजी के मामले में छह गिरफ्तार On Friday night six arrested in two sides in a case of assault and stone pelting



                                                          सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो 

                               पप्पू कालोनी के हमले के आरोपी।


साहिबाबाद । थाना साहिबाबाद पुलिस ने दिल्ली यूपी सीमा पर स्थित पप्पू कॉलोनी में दो पक्षों में हुई मारपीट और हुई पत्थर बाजी पर सख्त कार्रवाई करते हुए 6 लोगों को गिरफ्तार किया है। इस मामले में शामिल करीब डेढ़ दर्जन अज्ञात लोगों की तलाश की जा रही है। 
           
एएसपी केशव कुमार ने बताया कि पप्पू कॉलोनी में शुक्रवार की देर रात में कपड़े पहनने के विषय में चली हंसी मजाक के बाद दो पक्षों में मारपीट हुई थी तथा एक दूसरे पर पत्थर फेंके गये थे। इस मामले को लेकर पुलिस ने सख्त रवैया अपनाते हुए 6 लोगों को गिरफ्तार किया है तथा आरोपियों के खिलाफ संगीन धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई है। इस मामले में रोशन पुत्र जनेश्वर सिंह निवासी एफ80 गली नंबर 6 पप्पू कॉलोनी के द्वारा मज्जू पुत्र बाबू, पवन पुत्र रामविलास, हुमायूं पुत्र लल्लन बेग, जुबेर पुत्र अख्तियार, दिलशाद उर्फ दिल्लू पुत्र शराफत आदिल पुत्र शराफत सहित करीब 20 अज्ञात लोगों के खिलाफ भारतीय दंड विधान की धारा 147, 323, 307, 336,तथा 7 क्रिमिनल अमेंडमेंट एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है। 

रोशन द्वारा लिखाई गई रिपोर्ट में आरोप लगाया है कि निक्की पुत्र अनिल चैधरी निवासी श्री राम चैक पप्पू कॉलोनी तुषार आदि के बीच में कपड़े पहनने के ऊपर हंसी मजाक चल रही थी। थोड़ी देर के बाद रोशन निक्की पवन और तुषार में विवाद बढ़ गया और गाली गलौज मारपीट होने लगी। लेकिन रोशन और तुषार ने बीच-बचाव करा दिया था।  कुछ ही देर बाद जब रोशन और निक्की मोटरसाइकिल से घरेलू सामान लेने बाजार में गए तो वहां फरदीन पुत्र शाहिद और उसके अन्य करीब 10-15 साथियों ने दोनों की पिटाई कर दी थी। इस मामले में दोनों पक्षों की ओर से ईट पत्थर चले थे तथा शांति भंग होने का पूरा अंदेशा था। यह मामला दो समुदायों के बीच कटुता का न बन जाए इससे पुलिस ने तत्परता का परिचय देते हुए आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की और छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल कॉलोनी में पुलिस गश्त कर रही है और  शांति व्यवस्था कायम है।




Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment