दो जगह लगी आग से लाखों का नुकसान Loss of millions due to fire in two places



                                               सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो 




साहिबाबाद  ।  थाना साहिबाबाद क्षेत्र एवं इंदिरापुरम की एक सोसायटी के फ्लैट में रविवार की देर शाम लगी आग से लाखों का सामान जलकर राख हो गया। गनीमत यह रही कि कोई हताहत नहीं हुआ। 

जानकारी के अनुसार थाना साहिबाबाद क्षेत्र के लोनी रोड औद्योगिक क्षेत्र मोहननगर के हर्षा कंपाउंड में प्लास्टिक की ट्यूब बनाने वाली  बालाजी पोली ट्यूव नाम की एक कंपनी में तीसरी मंजिल पर रविवार की रात 7ः30 बजे के करीब अचानक आग लग गई। आग को बुझाने में अग्निशमन विभाग की 10 गाड़ियों को काम पर लगाया गया। तब कहीं 1 घंटे बाद आग पर काबू पाया जा सका। अग्निशमन विभाग के अनुसार इस कंपनी के भूतल और प्रथम तल पर काम होता है और तीसरी मंजिल पर कंपनी का गोदाम है। रविवार की शाम 5ः30 बजे के करीब कंपनी कर्मचारी कारखाने को ताला बंद करके गए थे। करीब 2 घंटे बाद कंपनी में आगजनी की घटना हुई। आसपास के लोगों ने आग लगने की सूचना  थाना साहिबाबाद व अग्निशमन विभाग को दी। समय पर पहुंची मदद के कारण आग को बढ़ने से रोक लिया गया। एतिहात के तौर पर आसपास के कंपनियों में काम कर रहे कर्मचारियों को भी बाहर निकाल कर सुरक्षित किया । इसके बाद आग बुझाने में साहिबाबाद ,कोतवाली, नोएडा, हापुड़ आदि स्थानों से दस गाड़ियां लगी तब  आग पर काबू पाया जा सका। आग के कारणों का पता नहीं चला है। बताया जाता है कि इस कंपनी की तीसरी मंजिल पर स्थित व्यवसाय गैस सिलेंडर के फटने से आग ने भयंकर रूप लिया था।
       
इसके अलावा थाना इंदिरापुरम क्षेत्र के अहिंसा खंड दो में गुलमोहर रेजिडेंसी के ऑरेंज टावर की 18 मंजिल पर एक फ्लैट में आग लग गई । यह फ्लैट एक निजी कंपनी में प्रबंधक का  सुदीप रस्तोगी का है। अग्निशमन अधिकारी सुनील सिंह ने बताया कि खाना बनाते समय कढ़ाई के अधिक गर्म होने से उस में डाले गए खाद्य पदार्थ से अचानक आग उठी और उसने चिमनी को अपने घेरे में ले लिया। चिमनी से लगी आग पूरे फ्लैट में पहुंच गई। आज की सूचना सोसाइटी के सुरक्षाकर्मियों को दी गई वह आग बुझाने वाले सामान लाए लेकिन वह उनसे नहीं चले। पता चला है कि कर्मचारी प्रशिक्षित नहीं थे। अग्निशमन विभाग ने तुरंत मौके पर आकर सोसायटी की आग पर काबू पाया और लोगों की जान में जान आई।


Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment