अगामी त्यौहारो में कोविड़ - 19 के प्रोटोकाॅल होंगे लागू Protocol of Kovid-19 will be applicable in future festivals



  • डीएम ने कानून एवं शांति व्यवस्था के लिए अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश।

  • आने वाले त्योहारों के दौरान 200 व्यक्तियों से अधिक का नहीं होगा जमावड़ा।

  • रात्रि 9 बजे तक शराब की दुकानें होंगी बंद, 8 बजे सर्राफा की दुकान की जाएंगी बंद।

  • मूर्ति विसर्जन के संबंध में हिन्डन की साफ सफाई का दायित्व नगर निगम का होगा, जलकुंभी की सफाई का दायित्व अधिशासी अभियंता सिंचाई विभाग करेंगे निर्वहन।

                                                                    प्रमुख संवाददाता 





गाजियाबाद। जनपद में आगामी त्यौहारों नवरात्रि, महाअष्टमी, महानवमी, विजय दशमी, दशहरा वरावफात, बाल्मीकि जयंती, धनतेरस, दीपावली, गोवर्धन पूजा, भैया  दौयज छठ पूजा आदि त्योहारों को शांतिपूर्वक संपन्न कराने एवं कोविड-19 प्रोटोकॉल का अनुपालन त्योहारों के कार्यक्रमों में सुनिश्चित कराने के उद्देश्य से आज कलेक्ट्रेट के महात्मा गांधी सभागार में जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय की अध्यक्षता में महत्वपूर्ण बैठक आहूत की गई। 

जिलाधिकारी ने महत्वपूर्ण बैठक में अध्यक्षता करते हुए प्रशासन एवं पुलिस तथा अन्य संबंधित अधिकारियों का आह्वान करते हुए कहा कि आगामी त्योहारों के आयोजन के दौरान जनपद की शांति एवं कानून व्यवस्था कायम रहे वहीं दूसरी ओर कोविड-19 को दृष्टिगत रखते हुए कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के संबंध में उत्तर प्रदेश सरकार के माननीय मुख्यमंत्री जी के द्वारा जो निर्देश दिए गए हैं सभी अधिकारियों के माध्यम से उनका  अक्षर से पालन सुनिश्चित करते हुए कार्य योजना बनाकर सभी त्योहारों के कार्यक्रमों को संपन्न कराने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी। उन्होंने कहा कि  धार्मिक कार्यक्रमों में आयोजकों के द्वारा विद्युत सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे संबंधित अधिकारियों के द्वारा इसकी गहनता के साथ चैकिंग सुनिश्चित की जाएगी। सभी धार्मिक कार्यक्रमों के आयोजन 50ः लोगों के भाग लेने के साथ ही अनुमति दी जाएगी। शहरी क्षेत्र में यह अनुमति अपर जिला अधिकारी नगर तथा मोदीनगर एवं लोनी क्षेत्र में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों की अनुमति उप जिलाधिकारी के माध्यम से दी जाएगी। 

जिलाधिकारी ने सभी संबंधित अधिकारियों को इस संबंध में स्पष्ट करते हुए निर्देशित किया है कि वह आवेदन के समय सारे तथ्यों की जांच कर ले उसके उपरांत ही संबंधित कार्यक्रम के आयोजन की अनुमति प्रदान की जाए। उन्होंने स्पष्ट किया है कि सभी कार्यक्रमों को आयोजित करते हुए आयोजकों द्वारा प्रोटोकॉल का अनुपालन सुनिश्चित कराना होगा। जिलाधिकारी ने यह भी कहा कि जनपद में कार्यक्रमों के आयोजन के संबंध में कोई भी नई परंपरा नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में 200 व्यक्तियों से ऊपर का जमावड़ा नहीं लगने दिया जाएगा। कार्यक्रमों के आयोजनों में सड़कों पर पंडाल लगाने की अनुमति किसी भी स्तर से प्रदान नहीं की जाएगी। जिला अधिकारी ने सभी संबंधित अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए हैं कि आगामी त्योहारों के मद्देनजर आयोजित होने वाले के प्रमुख स्थलों का चिन्हिकरण कर लिया जाए और कार्य योजना उसे  अंतिम रूप प्रदान करते हुए कार्यक्रम संपन्न कराएं। 

जिला अधिकारी ने कहा कि मूर्ति विसर्जन के संबंध में हिंडन नदी की साफ सफाई का दायित्व नगर निगम के द्वारा निर्वहन किया जाएगा वहीं दूसरी ओर जलकुंभी की सफाई का कार्य अधिशासी अभियंता सिंचाई विभाग करेंगे। दोनों विभागीय अधिकारियों के द्वारा कार्यक्रम आयोजन से पूर्व अपनी सभी तैयारियां सुनिश्चित कर ली जाएं। उन्होंने संबंधित उप जिलाधिकारी क्षेत्राधिकारी पुलिस   को निर्देश देते हुए कहा कि मूर्ति विसर्जन क्षेत्रों में प्रॉपर बैरी कटिंग सुनिश्चित कराएं  ताकि  मूर्ति विसर्जन के दौरान कोई  अप्रिय घटना घटित ना हो सके। 

जिलाधिकारी ने इस अवसर पर यह भी कहा कि आगामी त्योहारों को दृष्टिगत रखते हुए जनपद में कानून एवं शांति व्यवस्था कायम रहे इसके लिए संबंधित अधिकारियों के द्वारा जनपद में शराब के ठेके रात्रि 9 बजे तथा सर्राफा की दुकान 8 बजे तक बंद कराने की कार्यवाही सुनिश्चित करेंगे। जिलाधिकारी ने इस अवसर पर कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा अभी टला नहीं है और कोरोना संक्रमित व्यक्ति निरंतर जनपद में मिल रहे हैं। अतः सभी अधिकारियों के द्वारा कोविड-19 महामारी को लेकर संबंधित प्रोटोकॉल का शक्ति के साथ अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए ताकि सभी जनपद वासियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित बनाया जा सके। उन्होंने इस अवसर पर खुले में हो रहे कार्यों पर प्रवर्तन की कार्यवाही करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये गये। 

आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में एसएसपी कलानिधि नैथानी, अपर जिलाधिकारी प्रशासन, अपर जिलाधिकारी नगर, पुलिस एवं प्रशासन के अन्य अधिकारी गण तथा विभागीय अधिकारियों के द्वारा भाग लिया गया।


Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment