पत्रकारिता में मीटू का प्रवेश Meetu's entry into journalism




                                                         सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो 




साहिबाबाद । लाजपत नगर की रहने वाली एक युवती ने मी टू की शिकायत  की है। युवती ने  आरोप लगाया है कि  एक इलेक्ट्रॉनिक चैनल के यूपी हेड और उसके साथी ने उसके साथ छेड़छाड़ की है  और उसका साथ नहीं देने पर  उसे नौकरी से निकाल दिया गया है। इस आशय की एक शिकायत युवती ने थाना साहिबाबाद में लिख कर दी है।
         
जानकारी के अनुसार लाजपत नगर साहिबाबाद की रहने वाली एक युवती ने बताया कि उसे एक इलेक्ट्रॉनिक चैनल के हेड ने पत्रकारिता में उज्जवल भविष्य का सपना दिखाकर उसे गाजियाबाद आफिस में 8500रुपये महीना के वेतन पर रखा था। रविवार को चैनल हैड अपने चैनल के एक साथी के जन्म दिवस कार्यक्रम में मेरठ में उस युवती को साथ लेकर गया था। जिसमें उसके अलावा चैनल हेड का एक साथी और एक मोदीनगर की रहने वाली युवती थी। युवती का आरोप है कि मेरठ से लौटते समय दूसरी युवती को मोदीनगर उतार दिया गया  क्योंकि वह मोदीनगर में ही उसका घर है। लेकिन उसे रास्ते में कार के अंदर ही जबरन शराब पीने के लिए कहा गया। क्योंकि उसकी महिला साथी मोदीनगर में उतर  गयी थी और वह अकेली रह गई थी तो उसके साथ जबरदस्ती करने का प्रयास किया गया। लेकिन उसने शराव पीने के बदले नीचे गिरा दी तो ऐसा करते चैनल हेड ने देख लिया। इससे वह नाराज हुआ और उसने नौकरी से निकालने की धमकी भी दी। बाॅस का कहना था कि शराब पियो और एंजॉय करने होटल में चलते हैं। वहां थोड़ी मस्ती करेंगे फिर तुम्हें घर छोड़ देंगे। लेकिन उसने उनकी बातों का विरोध किया तो उसे चैनल हेड उसके घर लाजपत नगर के पास छोड़ कर चला गया और कुछ देर बाद उसने फोन करके कहा कि उसे नौकरी से निकाल दिया गया है ।
     
युवती का कहना है कि वह मीटू का शिकार हुई है और उससे इंसाफ चाहिए। इस मामले में उसने थाना साहिबाबाद पुलिस को शिकायती पत्र दिया है। लेकिन थानाध्यक्ष साहिबाबाद विष्णु कौशिक ने बताया कि युवती उनके पास शिकायत लेकर आयी थी पर घटना उनके क्षेत्र की नहीं है। केबल पीड़िता उनके थाना क्षेत्र में रहती है।

Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment