पानी की किल्लत को लेकर लोगों का प्रदर्शन Demonstration by water crisis



                                                 सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो 

                                               पानी को लेकर प्रदर्शन करते लोग।


साहिबाबाद ।  थाना साहिबाबाद क्षेत्र की शालीमार गार्डन कॉलोनी के लोगों ने  महीनों से पीने के पानी की किल्लत होने के चलते पानी की टंकी के पास प्रदर्शन किया। इस अवसर पर निवासियों ने जलकल विभाग के जेई ओमप्रकाश व नगर निगम के खिलाफ नारेबाजी की ।
         
 स्थानीय  लोगों ने बताया कि कई दिनों से पीने के पानी की आपूर्ति नहीं होने से शालीमार गार्डन मेन ए ब्लॉक में  पीने का पानी किल्लत है। इससे आज निवासियों का धैर्य टूट गया। खाली बाल्टी लेकर बड़ी संख्या में महिलाओं और निवासियों ने विजय पार्क पानी की टंकी पर जबरदस्त प्रदर्शन किया। खासतौर से महिलाओं ने जलकल विभाग के अभियंताओं और अधिकारियों को नाकारा बताते हुए उनके खिलाफ जमकर नारेबाजी की । 

लोगों ने इस अवसर पर  चेतावनी दी है कि अगर पानी की सप्लाई में जल्दी ही सुधार नहीं किया गया तो वरिष्ठ अधिकारियों का घेराव किया जाएगा। प्रदर्शनकारी धरमचंद ने बताया कि वे दो दिनों से नहा नहीं पाए हैं। ऐसे ही हाथ मुंह धोकर अपने कार्य पर जा रहे हैं। राजीव का कहना था कि सबमरसिबल पंप के खारे पानी से उनके बच्चों को स्किन एलर्जी हो जाती है अतः मजबूरन 20रुपये प्रति जार पानी खरीद रहे हैं और अपनी गाढ़ी कमाई का एक बड़ा हिस्सा पानी में खर्च कर रहे हैं।
        
कालोनी की आरडब्ल्यूए की तरफ से पानी की पर्याप्त आपूर्ति बहाली के लिये लगातार प्रार्थना पत्र  दिए जा रहे हैं। एक दिन छोड़कर एक दिन मात्र 30 मिनट के लिए पानी सप्लाई दी जा रही है वो भी बेहद कम दबाव में जिससे घरों तक पानी नहीं पहुंच पा रहा है। दिनांक 01सितम्बर 2020 में जेई ओम प्रकाश को पत्र दिया गया था और फोन पर लगभग रोजाना बात की जा रही है इसके बावजूद भी पानी की समस्या का हल नहीं हो रहा।

उधर राजीव कालोनी मोहन गनर में भी पिछले 15 दिनों से पानी की सप्लाई नहीं हो रही है। सिर्फ खानापूर्ति के लिए 5 - 10 मिनट के लिए पानी आता है जो लोगों को समय पर मिल भी नहीं पाता। श्रीपाल सिंह का कहना है कि निगम से मीठा पानी की आपूर्ति पिछले 15 दिनों से नहीं की जा रही है। समय पर एक बाल्टी पानी भी सही से नहीं भरा जा रहा तब तक आपूर्ति बंद कर दी जा रही हैं । इस संदर्भ में कई बार जेई से शिकायत किया गया है लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुआ है।   



Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment