पीएम स्वनिधि योजना का शिविर लगा Camp of PM Swanidhi Scheme



                                                            सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो 




साहिबाबाद। प्रधानमंत्री की पथ विक्रेता, रेहड़ी, फेरी वालों को लाभ पहुंचाने की योजना पीएम स्वनिधि योजना का  शिविर बुधवार को श्याम पार्क मेन स्थित आर्यन पब्लिक स्कूल में लगाया गया। शिविर में भीड़ तो थी लेकिन उसमें रेहड़ी पटरी और फेरी वालों की मौजूदगी नहीं दिखी। 
     
जानकारी के अनुसार नगर निगम गाजियाबाद के आधीन डूडा द्वारा इस शिविर का आयोजन नागरिक सुरक्षा कोर हिंडन की ओर से आयोजित किया गया था। लेकिन नागरिक सुरक्षा कोर व  नगर निगम गाजियाबाद का कोई अधिकारी वहां मौजूद नहीं था। वहां उपस्थित लोगों ने बताया के नगर निगम गाजियाबाद के मोहन नगर जोन प्रभारी एसके गौतम और सिविल डिफेंस हिंडन के कुछ पदाधिकारी सुबह आये जरूर थे लेकिन वे अपने फोटो खिंचवाने के बाद चले गए हैं।
      
शिविर में मौजूद मिशन मैनेजर डूडा अनूप शुक्ला ने बताया कि नगर निगम गाजियाबाद के आयोजन में डूडा की ओर से यह शिविर  लगाया गया है जिसमें पीएम स्वनिधि योजना के अंतर्गत स्ट्रीट बेंडर, रेहड़ी व फेरी वाले दुकानदारों को लाभ पहुंचाने के लिए 10 हजार रुपये का ऋण देने की योजना है। यह योजना 2015 में  शुरू की गई थी तथा सरकार के द्वारा एक निजी संस्थान के जरिए रेहड़ी पटरी व फेरी वाले दुकानदारों का रजिस्ट्रेशन हुआ था। उसके आधार पर वे स्ट्रीट वेंडर फेरीवाले और बीड़ी दुकानदारों के आधार कार्ड, वोटर आई कार्ड, बैंक पासबुक,बैंक खाते से जुड़ा मोबाइल नंबर और फोटो ले रहे हैं। जो अपने आप को पथ विक्रेता, रेहड़ी अथवा फेरीवाले बताते हैं उनका यहां रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है। सरकार इस योजना में दस हजार रुपये का ऋण  उनके काम धंधे को शुरू व आगे बढ़ाने के लिए देगी। इसकी वापसी 1 वर्ष में 12 मासिक किश्तों के माध्यम से दी जाएगी। लेकिन इसमें कोई बंधक अथवा गारंटी देने की जरूरत नहीं होगी। ऋण वापसी करने पर 7 प्रति शत की दर से ब्याज सब्सिडी मिलेगी।
        
इस संबंध में जब लाइन में लगे हुए कुछ लोगों से बात की गई तो वे इस बात का जवाब नहीं दे सके कि वे कहां फेरी या पटरी पर दुकान लगाते हैं। लेकिन इतना जरूर कहा कि हमें पता चला है कि सरकार दस हजार रुपये बिना गारंटी के लोन दे रही है और हमें यह पैसा मिला तो वे रेहड़ी पटरी अथवा फेरी दुकानदारी का काम करेंगे।

फोटो कैप्शन- पीएम सुनिधि योजना  का एक दृश्य। फाइल एफ-1


Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment