कोविड - 19: डीएम ने कोरोना से बचाव के लिए अधिकारियों को दिए कड़े निर्देश Kovid - 19: DM gives strict instructions to officers to protect from Corona


  • मास्क एवं सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध अधिकारियों के द्वारा बड़े स्तर पर चालान किए जाएं सुनिश्चित।

  • प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा सघन अभियान संचालित करते हुए एंटीजन किट के माध्यम से शिविर लगाकर की जाए कोरोना टेस्टिंग।

  • कोरोना मृत्यु दर को रोकने के उद्देश्य से अस्पतालों में मरीजों को यथा समय शिफ्टिंग करने का कार्य मानकों के अनुसार किया जाए सुनिश्चित।

                                                               प्रमुख संवाददाता 



गाजियाबाद। जनपद में कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए सभी जनपद वासियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित बनाने एवं संभावित कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की यथा समय खोज करते हुए उनका कोविड-19 के  प्रोटोकॉल के अनुरूप तत्काल इलाज संभव कराने के संबंध में जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय के द्वारा आज कलेक्ट्रेट के सभागार में एक महत्वपूर्ण बैठक आहूत की गई। 

जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के संबंध में प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा कार्यवाही में तेजी लाई जाए। उन्होंने कहा कि संभावित कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की खोज करने के उद्देश्य से एंटीजन किट के माध्यम से कोरोना टेस्टिंग के लिए शिविर आयोजित किए जाएं ताकि सभी संक्रमित मरीजों को चिन्हित करते हुए उन्हें यथा समय अस्पतालों में भर्ती करा कर कोविड-19 प्रोटोकॉल के अनुरूप उनका इलाज संभव कराया जा सके। जिला अधिकारी ने कहा कि जनपद में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के उद्देश्य से जहां जहां पर कोरोना संक्रमित व्यक्ति मिल रहे हैं उनके संपर्क व्यक्तियों का यथा समय सर्विलेंस का कार्य पूर्ण करते हुए उनकी भी टेस्टिंग सुनिश्चित कराई जाए ताकि कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। 

जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद में सरकार के निर्देशों के अनुपालन में वर्तमान में संचारी रोग नियंत्रण अभियान  संचालित किया जा रहा है नगर निगम नगर पालिकाएं एवं अन्य विभागों के माध्यम से सैनिटाइजेशन का कार्य तथा स्वच्छता अभियान भी पूर्ण क्षमता के साथ संचालित किया जाए ताकि वर्षा ऋतु के काल में कोरोना के संक्रमण एवं वेक्टर जनित बीमारियों को फैलने से रोका जा सके। जिलाधिकारी ने इस अवसर पर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा कि कोरोना मृत्यु दर को कम करने के लिए कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को जिस स्तर के इलाज की आवश्यकता हो उन्हें तत्काल पूर्ण मानकों के अनुसार संबंधित अस्पताल में शिफ्टिंग का कार्य सुनिश्चित किया जाए। मरीजों को शिफ्ट करते हुए मरीज की केस हिस्ट्री भी विस्तृत रूप से अस्पताल को उपलब्ध कराई जाए ताकि सभी मरीजों का मानकों के अनुसार इलाज संभव हो सके और सभी कोरोना संक्रमित व्यक्ति स्वस्थ होकर अपने घर पहुंच सके। 

जिलाधिकारी ने कहां की कोविड-19 को लेकर प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को जो दायित्व सौंपे गए हैं उनके द्वारा समय बद्धता के साथ निर्वहन करते हुए जनपद में कोरोना के संक्रमण को रोकने में अपनी ड्यूटी का निर्वहन किया जाए ताकि सरकार की मंशा के अनुरूप सभी कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को यथा समय इलाज संभव हो सके और कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि कोविड-19 स्1 अस्पतालों में बैड की व्यवस्था आगामी कार्य योजना को  दृष्टिगत रखते हुए सुनिश्चित की जाए ताकि सभी मरीजों को कोरोना संक्रमण होने पर उनका इलाज संभव हो सके। 

जिलाधिकारी ने यहां पर यह भी निर्देश दिए हैं कि प्रशासन पुलिस एवं अन्य संबंधित अधिकारियों के द्वारा जनपद में कोविड-19 के प्रोटोकॉल का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए निरंतर रूप से विशेष अभियान भी संचालित किए जाएं और यह सुनिश्चित किया जाए कि जनपद में सभी नागरिक घर से बाहर निकलने पर मास्क एवं गमछे का प्रयोग करें। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि बाजारों में सभी दुकानदार एवं व्यापारिक प्रतिष्ठान कोविड-19 प्रोटोकॉल का अनुपालन अक्षर से सुनिश्चित करें ताकि सभी जनपद वासियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित बनाया जा सके। आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में अपर जिला अधिकारी गण, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर एनके गुप्ता स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी गण तथा अन्य विभागीय अधिकारियों के द्वारा प्रतिभाग किया गया। 



Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment