डीएम ने वैशाली स्वास्थ्य केंद्र में सेंटर संचालन का किया औचक निरीक्षण DM conducted surprise inspection of center operation at Vaishali health center





  • डीएम के निर्देश पर तत्काल इलाज के लिए सात स्थानों पर रैपिड एंटीजन टेस्ट किट सुविधा का लाभ हुआ शुरू।


प्रमुख संवाददाता 

गाजियाबाद। कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए सभी जनपद वासियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने तथा संक्रमित व्यक्तियों को तत्काल ईलाज उपलब्ध कराने के उद्देश्य से जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय के स्तर पर निरंतर कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही है ताकि सभी जनपद वासियों को कोरोनावायरस के संक्रमण से सुरक्षित बनाया जा सके। 

कोरोना संक्रमित संभावित व्यक्तियों की तत्काल जांच कराते हुए उनकी रिपोर्ट के आधार पर पॉजिटिव आने पर उन्हें तत्काल ईलाज उपलब्ध हो सके इस परिपेक्ष में जिलाधिकारी अजय शंकर पांडे के निर्देश पर जनपद में वैशाली, इंदिरापुरम, खोड़ा, झंडापुर, विजयनगर, भोवापुर तथा सिटी जोन में रैपिड एंटीजन टेस्ट किट के माध्यम से संभावित कोरोना पीड़ितों की जांच का कार्य आज जनपद में शुरू कर दिया गया है। 

ज्ञातव्य हो कि इस कार्य को जनपद में तत्काल शुरू करने के उद्देश्य से जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय ने विगत दिवस अपने कैंप ऑफिस में महत्वपूर्ण बैठक करते हुए प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को विस्तृत निर्देश निर्गत किए थे, जिसके फलस्वरूप आज जनपद में 7 स्थानों पर प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा यह कार्यवाही प्रारंभ कर दी गई है। जिलाधिकारी कोविड-19 महामारी को लेकर सभी जनपद वासियों को कोरोनावायरस के संक्रमण से सुरक्षित करने एवं संक्रमित व्यक्तियों का तत्परता के साथ इलाज संभव कराने के लिए दिन रात कार्यवाही सुनिश्चित कर रहे हैं। जिला अधिकारी के द्वारा बिना किसी को बताए हुए गोपनीय तरीके से आज वैशाली में पहुंचकर स्वास्थ्य केंद्र का स्थल निरीक्षण किया गया जहां पर रैपिड एंटीजन टैस्ट किट के माध्यम से संभावित कोरोना पीड़ित व्यक्तियों की जांच का कार्य शुरू किया गया है। 

जिलाधिकारी ने इस अवसर पर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा कि रैपिड एंटीजन टेस्ट किट कोरोना संक्रमित व्यक्तियों का तत्काल इलाज संभव कराने में सेतु का कार्य करेगी। क्योंकि इस किट के माध्यम से टेस्ट करने पर संभावित कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की रिपोर्ट 15 से 30 मिनट के भीतर सभी चिकित्सकों को प्राप्त हो जाएगी। उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिए कि कोरोना पीड़ित व्यक्ति की पॉजिटिव रिपोर्ट आने पर उन्हें तत्काल कोविड अस्पताल में भेजने की कार्यवाही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा सुनिश्चित की जाएगी ताकि सभी कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को तुरंत इलाज संभव कराया जा सके। निरीक्षण के दौरान पाया गया कि संबंधित सेंटर पर वर्तमान तक 25 व्यक्तियों के सैंपल लेकर टेस्टिंग की कार्रवाई सुनिश्चित की गई है। जिलाधिकारी ने इस संबंध में जानकारी देते हुए अवगत कराया है कि वर्तमान में जनपद में 8000 रैपिड एंटीजन टेस्ट किस उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि जनपद में जितने भी डिमांड होगी संबंधित किट शासन के द्वारा निरंतर रूप से जनपद को उपलब्ध कराई जाएंगी। उन्होंने कहा कि संबंधित किट के माध्यम से अब संभावित कोरोना पीड़ितों का इलाज तत्परता के साथ जनपद में उपलब्ध कराया जा सकेगा। 

Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment