कोविड - 19: नोडल अधिकारी ने कलेक्ट्रट में दो चरणों मे की समीक्षा बैठक Kovid - 19: Nodal Officer in two-stage review meeting at Collectorate




  • जनपद में ढाई सौ बेड के एल वन कोविड अस्पताल के लिए आई एम ए के द्वारा 12 डॉक्टर एवं 12 नर्स की व्यवस्था कराई जाएगी सुनिश्चित, चार वेंटिलेटर भी कराए जाएंगे उपलब्ध।


  • दूसरे चरण में प्रशासनिक एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ गहन विचार विमर्श।


  • प्रशासनिक अधिकारी गण निरंतर रूप से फील्ड में करें अधिकतम निरीक्षण स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का करें पूर्ण सहयोग।


                                                         प्रमुख संवाददाता 

गाजियाबाद। कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए जनपद गाजियाबाद में कोरोना वायरस के संक्रमण पर अंकुश लगाने तथा कोरोना से होने वाली मृत्यु दर में कमी लाने के उद्देश्य से शासन से नामित नोडल अधिकारी सेंथिल पांडियन सी के द्वारा कलेक्ट्रेट के सभागार में आज दो चरणों में महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की गई। प्रथम चरण में नोडल अधिकारी के द्वारा जनपद के आई एम ए के प्रतिनिधियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक करते हुए उनका आह्वान किया कि कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए सभी जनपद वासियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने में आई एम ए के सभी सदस्यों का भी महत्वपूर्ण योगदान है। संकट की इस घड़ी में उन्हें भी आगे हाथ बढ़ाकर जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग का भरपूर सहयोग करना चाहिए। नोडल अधिकारी के इस आह्वान को आई एम ए के सदस्यों के द्वारा बहुत ही सकारात्मक रूप से लेते हुए जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का पूर्ण सहयोग करने का आश्वासन दिया गया। जनपद में स्1 कोबिट अस्पताल ढाई सौ बेड का शुरू करने के उद्देश्य से आई एम ए के द्वारा 12 डॉक्टर एवं 12 स्टाफ नर्स स्वास्थ्य विभाग को उपलब्ध कराने के साथ-साथ चार  वेंटिलेटर भी व्यवस्था कराने का आश्वासन नोडल अधिकारी को दिया गया है। इस अवसर पर जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी, मुख्य विकास अधिकारी अस्मिता लाल, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर एनके गुप्ता तथा अन्य संबंधित अधिकारीगण एवं आईएमए के सदस्यों द्वारा बैठक में प्रतिभाग किया गया। 

दूसरे चरण की बैठक नोडल अधिकारी के द्वारा कलेक्ट्रेट के सभागार में सांय 3रू00 बजे आहूत की गई। इस अवसर पर नोडल अधिकारी ने सभी प्रशासनिक अधिकारियों का आह्वान करते हुए कहा कि जनपद गाजियाबाद में कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा वर्तमान तक अधिकतम क्षमता के साथ कार्य किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री जी की स्पष्ट मंशा है कि हम सभी को मिलकर कोरोना की मृत्यु दर को प्रत्येक स्तर पर घटाने के लिए विशेष प्रयास करने होंगे। इस संदर्भ में उन्होंने समस्त प्रशासनिक अधिकारियों का आह्वान करते हुए कहा कि सभी अधिकारियों के द्वारा अधिक से अधिक फील्ड में रहकर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को पूर्ण सहयोग प्रदान किया जाए ताकि जनपद में कोरोनावायरस के संक्रमण को फैलने से तत्काल प्रभाव से रोकने की कार्यवाही सुनिश्चित की जा सके। इसके लिए उन्होंने पुनः सर्वलेंस का कार्य अधिक क्षमता के साथ करने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने कोरोना संक्रमित सिंप्टोमेटिक व्यक्तियों की तत्काल प्रभाव से जांच कराते हुए उन्हें आइसोलेशन वार्ड में पहुंचाने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि यह एक सामजंस्य बैठक है ताकि सभी प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी गण एक साथ मिलकर और अधिक क्षमता के साथ आगे कार्य करते हुए करोना मृत्यु दर को घटाने के लिए विशेष प्रयास कर सकें। 

इस संबंध में उन्होंने यह भी कहा की स्1 अस्पताल से स्2 एवं एल 3 में मरीजों की हालत को देखते हुए समय रहते शिफ्टिंग का कार्य प्राथमिकता के आधार पर सभी चिकित्सकों के द्वारा सुनिश्चित किया जाएगा ताकि कोरोना से होने वाली मृत्यु दर को कम किया जा सके। उन्होंने यह भी कहा कि कोरोनावायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए जागरूकता कार्यक्रम प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए  संचालित किया जाए ताकि आम नागरिकों को कोरोनावायरस के संक्रमण से सुरक्षित किया जा सके। प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयुष मंत्रालय के द्वारा नागरिकों के द्वारा काढ़े का प्रयोग, विटामिन सी की गोलियों के प्रयोग के संबंध में प्रचार-प्रसार करने के लिए आह्वान किया गया। दोनों महत्वपूर्ण बैठक में केजीएमयू के प्रोफेसर अनिल चंद्रा भी उपस्थित रहे। आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में जिला अधिकारी अजय शंकर पांडेय, गाजियाबाद प्राधिकरण के उपाध्यक्ष कंचन वर्मा, नगर आयुक्त दिनेश चंद्र, मुख्य विकास अधिकारी अस्मिता लाल, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, अपर जिला अधिकारी गण, नगर मजिस्ट्रेट, समस्त उपजिलाधिकारी गण एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी गण उपस्थित रहे। 


Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment