अब 15 से 30 मिनट के भीतर कोरोना संक्रमित व्यक्ति की मिलेगी जांच रिपोर्ट Now investigation report of corona infected person will be found within 15 to 30 minutes





  • जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय के प्रयास से जनपद को मिली 5000 रैपिड एंटीजन किट


  • जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय ने इस कार्य को जनपद में मूर्त रूप प्रदान करने के उद्देश्य से अपने कैंप ऑफिस पर की महत्वपूर्ण बैठक


  • संबंधित अधिकारियों को तत्काल कार्यवाही करने के दिए गए आवश्यक दिशा निर्देश


                                                      प्रमुख संवाददाता

गाजियाबाद। जिला अधिकारी अजय शंकर पांडेय के नेतृत्व में जनपद में कोरोना वायरस के संक्रमण से सभी जनपद वासियों को सुरक्षित करने के उद्देश्य से निरंतर स्तर पर वृहद कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही है ताकि सभी जनपद वासियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित बनाया जा सके। इस श्रृंखला में जनपद गाजियाबाद को जिला अधिकारी के नेतृत्व में एक बड़ी उपलब्धि प्राप्त हुई है जिसके अंतर्गत जनपद को 5000 रैपिड एंटीजन किट मिली है। संबंधित किट के माध्यम से अब संभावित कोरोना संक्रमित व्यक्ति की जांच की रिपोर्ट मात्र आधे घंटे के भीतर प्राप्त हो सकेगी। 

इस कार्य को जनपद में मूर्त रूप प्रदान करने तथा तत्काल प्रभाव से आरंभ कराने के उद्देश्य से जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय के अपने कैंप ऑफिस के सभागार में महत्वपूर्ण बैठक करते हुए प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को कंटेनमेंट जोन एवं हेल्थ केयर सेंटर पर इस संबंध में केंद्र स्थापित करने के निर्देश दिए हैं ताकि तत्काल प्रभाव से यह कार्य जनपद में प्रारंभ हो सके और कोरोना से संक्रमित व्यक्तियों की तत्काल जांच करते हुए उनका इलाज संभव कराया जा सके। जिलाधिकारी ने इस संबंध में कंटेनमेंट जोन के अंतर्गत यह कार्य तत्काल प्रभाव से आरंभ हो सके इस उद्देश्य से केंद्र बनाने के लिए स्कूल एवं अन्य स्थानों का चयन करते हुए निर्धारित गाइडलाइन के तहत केंद्र का संचालन करने के लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। इस कार्य में अपर जिलाधिकारी नगर के द्वारा स्वास्थ्य विभाग का सहयोग किया जाएगा। इस कार्य को जनपद में मूर्त रूप प्रदान करने के उद्देश्य से 30 टीमों का गठन किया जाएगा जिसमें दो लैब टेक्नीशियन तथा एक कंप्यूटर डाटा ऑपरेटर सम्मिलित है। स्थापित होने वाले केंद्र पर सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा जाएगा तथा वहां पर गोले बनाने की भी कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी। केंद्र पर कोरोना से पीड़ित पॉजिटिव व्यक्ति मिलने पर उन्हें तत्काल इलाज उपलब्ध कराया जा सके इस उद्देश्य से प्रत्येक सेंटर पर एक वेटिंग रूम भी तैयार किया जाएगा ताकि संबंधित व्यक्ति को एंबुलेंस के माध्यम से कोविड अस्पताल तत्काल प्रभाव से पहुंचाया जा सके। 

जिला अधिकारी ने इस कार्य को जनपद में तत्काल प्रभाव से आरंभ करने के निर्देश अपर जिला अधिकारी नगर एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी तथा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दिए हैं। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि रैपिड एंटीजन किट के माध्यम से जांच का कार्य तत्काल प्रभाव से निर्धारित मानकों के अनुरूप आरंभ कराने की कार्रवाई सुनिश्चित की जाए ताकि आमजन को सरकार के इस इस कार्यक्रम का  शीघ्रता के साथ लाभ प्राप्त हो सके। आयोजित महत्वपूर्ण बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अस्मिता लाल, अपर जिलाधिकारी नगर शैलेंद्र कुमार सिंह, अपर जिलाधिकारी भूमि अर्जन मदन सिंह  गर्बियाल, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर एनके गुप्ता, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आर के यादव, डब्ल्यूएचओ के डॉक्टर अभिषेक तथा अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे। 

Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment