तनाव मुक्ति के लिए ऑन लाईन संगीत संध्या संम्पन्न Online music evening for stress relief





                                                            सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो 

गाजियाबाद। केन्द्रीय आर्य युवक परिषद ने मानसिक तनाव कम करने के लिए     ‘ कह लो दिल की बात ’ संगीत संध्या का ऑनलाइन आयोजन किया। प्रभु भक्ति के भजनों व गीत गजलों ने समा बांध दिया।
    
परिषद राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि संगीत मानव जीवन में तनाव कम करने का महत्वपूर्ण साधन है। संगीत से प्रसंचित जीवन व तनाव मुक्त जीवन जिया जा सकता है। यक्ति में प्रफुल्लित होने से आत्महत्या का विचार नहीं आता वह अच्छा सामाजिक जीवन जी सकता है।
      
प्रान्तीय महामंत्री प्रवीण आर्य ने ‘ वेदों की अपनालो मेरे भारत देश के वासी,वैदिक पथ पर चलने से ही मानव का कल्याण है ’ श्रीमती प्रवीन आर्या ने बुलबलो गर तुमारा चमन लूट गया, आशियाना बसाने कहाँ जाओगे और पुष्पा चुघ ने कहा ओम का सिमरन किया करो आदि गीतों को सुनाकर माहौल को खुशनुमा बना दिया।
श्रीमती संगीता आर्या, प्रतिभा सपरा, प्रिंसिपल डॉ विवेक कोहली, किरण सहगल आदि ने भी अपनी रचनाओं को प्रस्तुत किया। संगीत संध्या का कुशल संचालन प्रधान शिक्षक सौरभ गुप्ता ने किया।
       
इस अवसर पर मुख्य रूप से सर्वश्री आनन्द प्रकाश आर्य हापुड़,एम एल गोयल(गुरुग्राम), अमीरचंद रखेजा,स्वतंत्र कुकरेजा (करनाल), रामकृष्ण शास्त्री (बहरोड़),डॉ रचना चावला,ओम सपरा,प्रगति गुप्ता,राजेन्द्र आर्य (कोटा) दुर्गेश आर्य,ईश आर्य, महेन्द्र भाई,देवेन्द्र भगत,यशोवीर आर्य, सुरेंद्र शास्त्री,के एल राणा, यज्ञ वीर चैहान आदि उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment