जिलाधिकारी ने की विधुत विभाग के कार्यो की समीक्षा District Collector reviews the works of the Department



गाजियाबाद, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी कलेक्टेªट सभागार में विधुत विभाग द्वारा आयोजित बैठक को सम्बोधित कर रही थी। विधुत विभाग की बैठक में उन्होने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि लम्बित कार्यो की सूची बनाकर समय सीमा के अन्तर्गत प्रस्तुत करे और माह फरवरी में 50 प्रतिशत विधुत कार्य पूर्ण किये जाये। उन्होने मुख्य अभियन्ता विधंुत से पूछा कि दीनदयाल उपाध्याय योजना में फीडर सेग्रीगेसन का कार्य सुगमता पूर्वक किया जा रहा है या नही। मुख्य  अभियन्ता विधुत ने बताया कि 50 प्रतिशत कार्य पूर्ण कर दिया गया है। सौभाग्य योजना मंे वर्तमान में 18402 टी0के0सी0 की सूची उपलब्ध करा दी गयी है। उन्होने विधुत अधिकारियों को निर्देश दिये कि गांव में विधुत कनेक्शन हेतु कैम्प आयोजित किये जाये और कैम्प का शैडयूल जारी करें। 
बैठक में मुख्य अभियन्ता विधुत ने बताया कि नये कनेक्शन प्रदान करने हेतु हर डिविजन में हैल्प डैस्क खोले जायेगें। जिलाधिकारी ने सख्त निर्देश देते हुये कहा कि लम्बित विधुत कनेक्शन व बिलों में गडबडी ठीक कराने के लिए सम्बन्धित अधिकारी रूची लेकर कार्य करें यदि इन कार्यो में लापरवाही बरती गयी तो गम्भीर कार्यवाही की जायेगी। अधिकारियों द्वारा उपभोक्ताओं के उत्पीडन की शिकायते प्राप्त न हो। अपने-अपने क्षेत्रों के लम्बित विधुत कनेक्शनों को निकलवाकर उनका निस्तारण कराये। उपभोक्ताओं का बिल बनाते समय विधुत मीटर की  रीडिगं लेते हुये सही बिल बनायें।  इससे विधंुत भुगतान बढेगा। ग्रामीण क्षेत्रों के विधुत कार्यो में और परिश्रम की आवश्यकता है। विधंुत की कम वसूली पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त की। उन्होने कहा कि जितनी वसूली की जा रही है वह पोर्टल पर अपलोड नही की जा रही है। 

उन्होने अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व से कहा कि तहसीलवार डयूटी चार्ट बनाकर 10 दिन का शैडयूल जारी करे। मुख्य अभियन्ता ने अवगत कराया कि  सैक्टर- 10 वसून्धरा ओद्यौगिक फीडर है और 155 उपभोक्ता है। जनपद में 55 फीडर है जिनमें से 48 फीडर की टैगिग कर ली गयी है। उन्होने निर्देशित किया कि फरवरी माह के अन्त तक सारे फीडर्स का डाटा चैक कराये । ग्रामीण क्षेत्रों के फीडर का डाटा आॅन लाईन हो गया है। जिलाधिकारी ने मुख्य अभियन्ता से कहा कि अपने स्तर से शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के डाटा की आॅन लाईन मोनिटरिंग की जाये। और विधुत सप्लाई आॅन लाइन दिखनी चाहिये। ऊर्जा मित्र के अन्तर्गत सभी उपभोक्ताओ का डाटा अपडेट कराये। और एस0एम0एस0 कराते रहे उन्होने सभी विधुत अधिकारियों को निर्देश दिये कि सभी डिवीजन लग्न से कार्य करे। बैठक में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व मुख्य अभियन्ता विधुत सहित विधुत विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे। 



Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment