करना था ट्रांसप्लांट और ठेकेदार ने उखाड़ फेंके पेड़ The transplant and contractor had overthrown trees



पेड़ - पौधों के साथ  हो रही निर्दयता के खिलाफ डी पी पांडेय ने किया अनशन 

वसुंधरा, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  थाना इंदिरापुरम क्षेत्र में वसुंधरा पुलिस चैकी के पास सिंचाई विभाग द्वारा कराए जा रहे निर्माण कार्य के दौरान ठेकेदार ने पांच हरे भरे वृक्ष मशीन लगाकर उखाड़ दिए और उन्हें पास के गड्ढे में फेंक दिया। जबकि वन विभाग का आदेश था कि उन्हें ट्रांसप्लांट किया जाए। पौधों को उखाड़े जाने को लेकर प्रकृति रूपा भाई डी पी पांडेय एक दिवसीय अनशन पर बैठे हैं। उन्होंने दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने और प्रकृति को बचाने की मांग जिलाधिकारी गाजियाबाद से की है।

वसुंधरा में कनावनी नहर के पास पुलिस चैकी वसुंधरा के पीछे सिंचाई विभाग विकास कार्य करा  रहा है, जिसमें सर्विस रोड को लिंक रोड से जोड़ा जाना है । इस काम के लिए ठेकेदार ने वहां पर लगे बड़े बड़े पांच वृक्षों को उखाड़ के फेंक दिया है। प्रकृति रूपा भाई के नाम से मशहूर डीपी पांडे ने बताया कि उन्हें आशंका थी विकास कार्य की भेंट ये बड़े हरे भरे पेड़ चढ़ जाएंगे, इसलिए उन्होंने वन विभाग को पहले ही आगाह किया हुआ था। इसलिए वन विभाग ने सिंचाई विभाग को निर्देश दिए थे कि पेड़ों को उखाड़ा न जाए, बल्कि उन्हें दूसरे स्थान पर ट्रांसप्लांट किया जाए, लेकिन ऐसा हुआ नहीं।  

उनका आरोप है कि सड़क बनाने वाले ठेकेदार ने पांच हरे बड़े-बड़े पेड़ों को जेसीबी मशीन लगाकर उखाड़ दिया और गड्ढे में फेंक दिया है । पास में ही कुछ गढ़े कर  उनमें पौधे रख दिए हैं जिनकी पॉलिथीन भी नहीं निकाली गई है और ट्रांसप्लांट का रूप देने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने बताया कि वे पेड़ों के उखड़ने के खिलाफ एक दिवसीय  अनशन पर बैठे हुए हैं। उनकी जिलाधिकारी से मांग है कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए और प्रकृति को बचा जाए। पेड़ पौधे नहीं होंगे तो हवा साफ नहीं होगी और हम जीवित नहीं रहेंगे । उन्होंने बताया कि वे 5 जनवरी से आंदोलन की तैयारी कर रहे हैं और यह तैयारी पेड़ पौधों को बचाने के लिए एवं यहां की आबोहवा को सुधारने के लिए होगी।




Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment