गुजरात में हिंसा के मूल में बंद कारखाने और बेरोजगारी: राहुल गांधी Closed factories and unemployment at the root of violence in Gujarat: Rahul Gandhi



नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुजरात में उत्तर भारतीय लोगों पर हमले को ‘पूर्णत: गलत’ करार दिया और सोमवार को कहा कि हिंसा के मूल में राज्य में बंद पड़े कारखाने और बेरोजगारी है। गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘ग़रीबी से बड़ी कोई दहशत नहीं है। गुजरात में हो रहे हिंसा की जड़ वहां के बंद पड़े कारख़ाने और बेरोज़गारी है। व्यवस्था और अर्थव्यवस्था दोनो चरमरा रही हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘प्रवासी श्रमिकों को इसका निशाना बनाना पूर्णत ग़लत है। मैं पूरी तरह से इसके ख़िलाफ़ खड़ा रहूंगा।‘‘

ग़रीबी से बड़ी कोई दहशत नहीं है| गुजरात में हो रहे हिंसा की जड़ वहाँ के बंद पड़े कारख़ाने और बेरोज़गारी है| 

व्यवस्था और अर्थव्यवस्था दोनो चरमरा रही है| 

प्रवासी श्रमिकों को इसका निशाना बनाना पूर्णत ग़लत है| मैं पूरी तरह से इसके ख़िलाफ़ खड़ा रहूँगा| 
गत 28 सितंबर को गुजरात के साबरकांठा जिले में 14 महीने की एक बच्ची के साथ कथित बलात्कार के बाद छह जिलों में हिंदीभाषी लोगों पर हमलों की कई घटनाएं हुई हैं। राज्य सरकार का कहना है कि हिंसा की घटनाओं के सिलसिले में 400 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया है। बलात्कार के मामले में बिहार के एक प्रवासी श्रमिक को गिरफ्तार किए जाने के बाद हिंसा की शुरूआत हुई थी।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment