सडक सुरक्षा जागरूकता की बैठक Road safety awareness meeting



गाजियाबाद, ( प्रमुख संवाददाता )  अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व सुनील कुमार सिंह पुलिस अधीक्षक यातायात के साथ कलेक्टेªट सभागार में रोड सैफ्टी जागरूकता हेतु बैठक आज बैइक किए। बैठक में इन्जिनियरिंग कालेज के प्रधानाचार्य स्कूल प्रबन्धक व शिक्षिकाओं से सडक सुरक्षा जागरूकता हेतु विचार विमर्श किया गया।

बैठक में परिवहन अधिकारी ने बताया कि मोटर साईकिल  व स्कूटर से यात्रा करते समय उच्च गुणवक्ता युक्त हैल्मेट पहने। कार चालक एवं सह यात्री सीट बैल्ट का प्रयोग अवश्य करें, ओवर स्पीड वाहन न चलाये स्टन्ट न करें। वाहन चलते समय मोबाईल पर विल्कुल बात न करें, नीदं की स्थिति में या नसे में वाहन बिल्कुल न चलाये। वाहन को हमेशा अपनी लाईन में ही चलाये पैदल यात्री हमेशा जेब्रा क्रासिंग से ही सड़क पार करें। उन्होने बताया कि सडक सुरक्षा जागरूकता हेतु 8 जिले चिन्हित किये गये है जिनमे जनपद गाजियाबाद प्रमुख है। जागरूकता कार्यक्रम कराने हेतु चालकोें को प्रशिक्षित करने के लिए निर्धारित तिथियों में कार्यशाला आयोजित की जायेगी तथा वाहन चालकों का नेत्र परीक्षण मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा कैम्प लगवाकर किया जायेगा। 
उन्होने बताया कि जनपद मेरठ मे भी 30 विद्यालयों को सडक सुरक्षा जागरूकता हेतु चिन्हित किया गया है। प्रत्येक विद्यालयों से 22 बच्चों को चिन्हित कर रोड सैफ्टी क्लब हेतु टीम बनायी है। इससे जनपद में यातायात पर सकारात्मक प्रभाव पडा है। जनपद गाजियाबाद में भी यही पहल करने का सुझाव है । स्कूली बच्चों द्वारा निबन्ध प्रतियोगिता, पैन्टिगं प्रतियोगिता व स्लोगन प्रतियोगिता कराकर व रैली के माध्यम से आमजन में जागरूकता लाने का प्रयास किया जा रहा है। इससे परिवहन व्यवस्था में गुणात्मक सुधार आयेगा। 

इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व ने  स्कूल के प्रधानाचायों व स्कूल प्रबघन से कहा कि स्कूल बस पर मोटे‘-मोटे अक्षरों से स्कूल बस लिखा होना चाहिये। बस पर स्कूल का नाम तथा टेलिफोन नम्बर अकित होना चाहिए। प्रत्येक स्कूल बस में फसर््ट-एड बाॅक्स रखना अनिवार्य है, अग्नि शमन यंत्र भी अनिवार्य रूप से उपलब्ध होना चाहिए। प्रत्येक स्कूल बस में चालक के अलावा अनुभवी पुरूष अथवा  सहायक महिला तैनात  रहेगें जो बच्चों की सुरक्षा का ध्यान रखेगें। उन्होने इन्टर कालेज के प्रधानाचार्यो से कहा कि वे कक्षा 9 से 12 तक के विद्यार्थियों को स्कूल में दुपहिया वाहन लाना प्रतिबन्धित करें। 
बैठक में विभागीय अधिकारियों के साथ स्कूल व कालेज के प्रधानाचार्य, प्रबन्धक व शिक्षिकाए उपस्थित थे।  



Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment