राफेल सौदे पर दिल्ली कांग्रेस ने निकाली “राफेल विमान परेड” Delhi Congress extends "Raphael Aircraft Parade" on Rafael Deals



नई दिल्ली, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  कांग्रेस की दिल्ली इकाई ने राफेल सौदे में हुए कथित ‘घोटाले’ को जनता के समक्ष उजागर करने के लिए आज ‘राफेल विमान परेड’ निकाली।
राष्ट्रीय राजधानी के कनॉट प्लेस इलाके में कांग्रेस ने यह परेड निकाली।

राफेल विमान की प्रतिकृति को एक वाहन पर रखकर घुमाया गया। इस परेड में दिल्ली कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के साथ सैकड़ों कार्यकर्ता शामिल हुए।

दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन ने कहा, ‘‘राफेल विमान सौदे में बड़ा घोटाला हुआ है। इसमें एक निजी कंपनी को हजारों करोड़ रुपये का फायदा पहुंचाया गया है। जनता समझ रही है और इस सरकार को सबक सिखाएगी।’’

कांग्रेस आरोप लगाती रही है कि मोदी सरकार ने फ्रांस की कंपनी दसाल्ट से 36 राफेल लड़ाकू विमान की खरीद का जो सौदा किया है, उसका मूल्य पूर्ववर्ती संप्रग सरकार के शासनकाल में किए गये समझौते की तुलना में बहुत अधिक हैं जिससे सरकारी खजाने को करोड़ों रूपये का नुकसान हुआ है।

इससे पहले शनिवार को राफेल घोटाले पर मोदी सरकार को घेरते हुए कांग्रेस के संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि ये सरकार राफेल डील में एक झूठ छुपाने के लिए सौ झूठ बोल रही है और खुद अपने ही झूठ के जाल में फंसती जा रही है।

उन्होंने कहा, “राफेल डील को लेकर एक और चैंकाने वाला तथ्य सामने आया है। जो राफेल विमान फ्रांस से भारत आएंगे वो भारत के हिसाब से ‘विशिष्ट बदलाव’ किये बिना आएंगे। यही नहीं, भारत को इन राफेल विमानों की आपूर्ति 2022 में होगी।”

कांग्रेस प्रवक्ता ने पूछा, “अगर 2015 में आपात खरीद की गई थी, तो फिर उसकी आपूर्ति 2022 में क्यों होगी? फिर ये आपात खरीद कैसे हुई?” इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि मोदी जी को देश को बताना चाहिए कि 526 करोड़ रुपये वाला विमान 1,670 करोड़ रुपये में खरीदकर उन्होंने देश को 41,000 करोड़ का चूना कैसे लगाया है।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment