खुल्लम - खुला : मालिक मेहरबान तो गदहा पहलवान ! Khulam - khula


                                                         खुल्लम - खुला 

                                                            संजय त्रिपाठी




सच ही कहा है जब मालिक ही मेहरबान होगा तो गदहा पहलवान हो ही जायेगा। लोग कहते हैं इसके उपर इसके स्वामी का हाथ है तो कोई कहता है कि इस पर भगवान की नजरे इनायत है। कुछ लोग ऐसे भी हैं जिनपर साहब मेहरबान है। देश में अगस्त माह में 16 लाख लोगों की नोकरी चली गई। मीडिया आंकड़ों के अनुसार देश में 23 करोड़ लोग कोविड - 19 के मध्येनजर बेरोजगार हो गए हैं। आज भी देश की आवाम महंगाई, भूखमरी जैसी समस्याओं से जुझ रही है । लोग हत्तोत्साहित हो रहे है । सबके सामने नोकरी, परिवार का पालन - पोषण और जीवन यापन को लेकर विकट समस्या बना हुआ है। लेकिन आज भी देश में करोड़पतियों की संख्या में भारी इजाफा हो रहा है। अभी हाल ही में एक सर्वे में सामने आया है कि एक् लाख करोड़ या उससे ज्यादा संपत्ति रखने वाले 13 उद्यमी हो गये हैं । साल भर में यानी 2020 - 21 में ऐसे 8 उद्यमियों की संख्या बढ़ी ंहै। 

 देश में 1000 करोड़ से ज्यादा संपत्ति वाले रईस 1000 के पार हो गये हैं। अंबानी टाॅप पर रोज की कमाई में अदाणी आगे, हर दिन 1000 करोड़ कमा रहे । सालभर में 179 सुपर रिच की बढ़ोतरी के साथ 119 शहरों में 1007 लोग इस श्रेणी में आ गए हैं। हाल ही में जारी आईआईएफएल वेल्थ हुरुन इंडिया रिचलिस्ट - 2021 की 10 वीं रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है ।  इसके मुताबिक मुकेश अंबानी 7.18 लाख करोड़ की सम्पत्ति के साथ लगातार 10 वें साल शीर्ष पर है । 5.05 लाख करोड़ की सम्पत्ति के साथ गौतम अदाणी दो पायदान चढ़कर दूसरे स्थान पर पहुंच गए है।  तीसरे स्थान पर शिव नाडर है । इनमें मुकेश अंबानी और अदाणी के प्रतिदिन कमाई की रकम में भी भारी बढ़ोतरी हुई है। जरा गौर करने योग्य है कि जिस कोरोना काल में सभी लोग अपनी नोकरी और जीवन - यापन को लेकर भयभीत है, उस समय हमारे देश के उद्योगपति धड्डल्ले से करोड़पति क्लब की संख्या बढ़ा रहे हैं। हमेशा से आम जनता और अशिक्षित लोग भाग्य को दोष देते रहते हैं। उन्हें लगता है कि इस जन्म में दयनीय स्थिति के लिए दूसरे जन्म का कर्म दोषी है। क्या यह सही है ? कब तक लोगों को ऐसे बातों से बहलाया जायेगा। 5 किलो गेहूं और तीन किलो चावल से कब तक इस भोलीभाली जनता का पेट भरा जायेगा। हालात तो ऐसा बनता जा रहा कि अब तो देश के गरीब ही खत्म हो रहे हैं गरीबी तो गरीबों के साथ ही खत्म हो जायेगी। फिर भी भक्तों की सलाह है कि आवाम को ज्यादा आज की अपनी तकलिफ के लिए परेशान होने की जरूरत नहीं है । 

नोकरी के जगह कश्मीर से 370 हटा दिया गया है। महंगाई के जगह राम मंदिर को याद कर घर की आवश्यक वस्तुओं की खरीदारी करें, प्रभु सब ठीक करेंगे। पेट्रौल - डीजल की बढ़ती कीमत से हलकान होने की जरूरत नहीं है जब भी पम्प पर जाए सेंट्रल बिस्टा याद कर ले कीमत स्वत: ही कम लगेगा। भक्त इसी कारण से तो प्रसन्न हैं। आप क्यों चिंतित हो रहे हम विश्व गुरू बनने जा रहे हैं और आप चिंता में  हैं खुश होइए, मुस्कुराइए आप रामराज्य में है । इधर खमोखां आप परेशान हैं उधर गदहा पहलवान है  । मालिक की मेहरबानी देखिए और प्रसन्न हो जाइए। हम भी प्रसन्न होने का प्रयास कर रहे हैं ।


                                                                                                                              राम - राम जी !
Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment