किसानों ने निकाली प्रधानमंत्री की शव यात्रा Farmers took out the dead body of Prime Minister


                                                               सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो 

                            किसान आंदोलन में समर्थन देने पहुंचे  बौद्ध अनुयाई।


साहिबाबाद । दिल्ली यूपी की सीमा यूपी गेट पर पिछले 30 दिनों से चल रहा किसानों का आंदोलन आज और मुखर हो गया। किसानों ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक शव यात्रा निकाली और उनके खिलाफ नारेबाजी की। 
      
जानकारी के अनुसार किसान नेताओं ने शव यात्रा निकालकर प्रधानमंत्री मोदी के लिए हाय हाय के नारे लगाए। इस मौके पर पुलिस भी काफी मुस्तैद रही  जिससे कोई अपराधी किस्म का व्यक्ति इस मौके का गलत फायदा न उठा सके। सोमवार को बिहार से सांसद पप्पू यादव ने भी यूपी गेट पर आकर किसानों को अपना समर्थन दिया। सांसद पप्पू यादव ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह देश में झगड़ा प्रसाद करा कर सत्ता पर काबिज होना चाहते हैं। उन्होंने तानाशाही चला रखी है ,चुनाव आयोग हो या रिजर्व बैंक उन्हीं के इशारे पर काम कर रहा है। 

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि महाराष्ट्र ,पश्चिम बंगाल, हैदराबाद और बिहार में झगड़ा फसाद करा कर भाजपा नेता सत्ता पर काबिज होना चाहते हैं। वे अन्नदाता की लड़ाई का समर्थन करने को यहां आए हैं और जब तक किसानों की मांग पूरी नहीं होती उनका हर तरह से किसानों को समर्थन रहेगा। आज बौद्ध और बाबा साहव अंबेडकर के अनुयायियों ने भी किसानों को अपना नैतिक समर्थन दिया।बौद्ध अनुयायियों ने बताया कि वे किसानों के साथ हैं।उनका तब तक समर्थन रहेगा जब तक किसानों की मांग पूरी नहीं होती। उन्होंने कहा कि वैर से वैर शांत होता है। प्रधानमंत्री से मांग की कि वे किसानों की समस्याओं को सुनें और तीनों कानूनों को सरकार वापस ले। वे हर तरह से किसानों के साथ खड़े हैं और खड़े रहेंगे।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment