भारतीय संस्कृति प्रारंभ से ही महिला प्रधान रही है और अब समाज को उन्हें इसी की स्थापना के लिए जागृत होना चाहिए - डीएम Indian culture has been female




  • आयोजित कार्यक्रम में हजारों की संख्या में महिलाओं एवं बालिकाओं के द्वारा किया गया प्रतिभाग ।

  • आयोजित महत्वपूर्ण कार्यक्रम में महिलाओं की सुरक्षा उनके सम्मान एवं उन्हें स्वावलंबी बनाने के लिए प्रदेश सरकार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी कराई गई उपलब्ध।

                                                            प्रमुख संवाददाता 




गाजियाबाद। मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार योगी आदित्यनाथ जी की प्रेरणा से महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा उनके सम्मान एवं उन्हें स्वावलंबी बनाने के उद्देश्य से संचालित मिशन शक्ति के अन्तर्गत आज  23 अक्टूबर 2020 को जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय की अध्यक्षता तथा मिशन शक्ति अभियान की नोडल अधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी अस्मिता लाल के निर्देशन में उद्योग विभाग द्वारा जनपद के समस्त औद्योगिक संगठनों में नारी तथा बालिका सशक्तिकरण, स्वावलंबन एवं सुरक्षा पर वृहद स्तर पर कार्यक्रम आयोजित किये गये है। इस कड़ी में आज जिलाधिकारी अजय शंकर पाण्डेय की अध्यक्षता में रक्षा मंत्रालय के सार्वजनिक उपक्रम भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लि0 गाजियाबाद द्वारा इंद्रप्रस्थ इंजीनियरिंग कालेज के अटल सभागार में भव्य कार्यक्रम आयोजित किया गया। 



जिलधिकारी द्वारा अभियान के शुभारंभ के लिए विशेष तौर पर भारत इलैक्ट्रोनिक्स लि0 द्वारा आयोजित कार्यक्रम का चयन किया गया क्योंकि यह एक मात्र ऐसा भारत सरकार का सार्वजनिक उपकम है, जिसके निदेशक मण्डल में 2 महिला निदेशक शिखा गर्ग एवं आनन्दी रामालिंगम है बल्कि इसके कार्यकारी निदेशक भी महिला अधिकारी ही हैं। 400 से अधिक महिलायें भारत इलैक्ट्रोनिक्स लि0 गाजियाबाद में कार्यरत हैं, जिसमें 07 महिला अधिकारी महाप्रबंधक के पद पर कार्यरत है संस्थान में 40 प्रतिशत से अधिक महिला अधिकारी व कर्मचारियों की सहभागिता हैं।       
    
इस अवसर पर जिलाधिकारी अजय शंकर पाण्डेय अपने उद्बोधन में कहा - ‘ दीपक अकेला होता हैं किन्तु दीपाली में एक साथ करोड़ों दीपक प्रज्जवलित होते हैं। इसी प्रकार एक मात्र महिला शक्ति दीपाली करोड़ों दीपक को रोशनी प्रदान करती हैं। ’ उन्होनें बताया कि अब बेटी भी कुलदीपक होगी। मातृ शक्ति का महत्व बताते हुए जिलाधिकारी ने बताया कि जहां किसी देवता की पूजा में मात्र एक देवता की पूजा होती है किन्तु शक्ति स्वरूपा देवी में सभी देवताओं का अंश विद्यमान होता है। इसलिए देवी का शक्ति स्वरूप सर्वत्र पूजनीय होता है। भारतीय संस्कृति प्रारम्भ से ही महिला प्रधान रही है और अब समाज को पुनः इसी की स्थापना हेतु जागृत होना चाहिए।
     
उन्होंने कहा कि मातृ शक्ति तथा वर्तमान में महिला तथा बालिकाओं को दिये गये अधिकारों के सम्बंध में जानकारी होनी चाहिए एवं यह अपील की गई  कि सभी पुरुष महिला व बालिकाओं के प्रति सम्मान को विकसित करें। कार्यक्रम के दौरान जिलाधिकारी द्वारा शी बॉक्स का भी विमोचन किया गया एवं कार्यक्रम में उपस्थित भारत इलैक्ट्रोनिक्स लि0 के निदेशक  शिखा गर्ग का स्वयं स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मान किया गया। कार्यक्रम में जिला विकास अधिकारी भालचन्द्र त्रिपाठी एवं जिला प्रोबेशन अधिकारी विकास चन्द्रा के साथ साथ भारत इलैक्ट्रोनिक्स लि0 गाजियाबाद के अधिशासी निदेशक जयदीप मजूमदार एवं रूचि गर्ग द्वारा भी महिलाओं के अधिकारों व सशक्तिकरण के सम्बंध में अपने विचार प्रकट किये गये। 

जिलाधिकारी  द्वारा कार्यक्रम का शुभारम्भ किये जाने के उपरांत जनपद के बुलन्दशहर रोड औ0क्षेव, साउथ साईट जीवटी0 रोड औ0क्षेव, हिण्डन विहार, अमृत स्टील कम्पाउण्ड, मेरठ रोड पंजाब एक्सपेलर कम्पाउण्ड औवक्षेत्रों सहित अन्य औद्योगिक क्षेत्रों में महिला जागरूकता, स्वावलम्बन तथा सशक्तिकरण पर कार्यक्रम आयोजित किये गये इसके अतिरिक्त सभी औद्योगिक इकाईयों में उक्त विषय पर कार्यक्रम आयोजित किये गये। यह जानकारी सयुंक्त आयुक्त उद्योग, जिला उद्योग एवं उद्यम प्रोत्साहन केन्द्र गाजियाबाद वीरेंद्र कुमार के द्वारा दी गई है।

Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment