तीसरे दौर का लाॅकडाउन रहा शराबियों के नाम Third round lockdown names of alcoholics




            ज्यादा दाम वसूलने की खबर पर कार्यवाही करती आवकारी विभाग की टीम।

                                                         सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो 

साहिबाबाद । मंगलवार से शुरू हुआ तीसरे चरण का लाॅकडाउन शराबियों के नाम रहा। पुलिस पूरे दिन शराब की खरीदारी करने आए लोगों को संभालने में लगी रही। आज के दिन शराब विक्रेताओं ने भी मनमाने दाम वसूले। अन्य दुकानें और औद्योगिक संस्थान संशय के बने रहने के कारण नहीं खुल सके।
        
जानकारी के अनुसार देशभर में आज तीसरे चरण का शटडाउन था जिसमें गाजियाबाद जिला प्रशासन ने नेशनल हाईवे व माल को छोड़कर गली मोहल्लों में स्थित दुकानों वाणिज्य प्रतिष्ठानों और कारखानों को खोलने की बात कही थी । लेकिन जिला प्रशासन की स्पष्ट नीति नहीं होने के कारण संशय की स्थिति बनी रही । लिहाजा आज दुकानें और औद्योगिक प्रतिष्ठान शुरू नहीं हो सके। एक दो लोगों ने अपनी दुकान जरूर खोल रखी थी। जिला प्रशासन ने बताया था कि वह अपने दुकान और औद्योगिक प्रतिष्ठान खोलने के लिए ईमेल से आवेदन करें। लेकिन ईमेल एड्रेस  गलत होने के कारण  डिलीवर नहीं हो रहा था।  जिला प्रशासन ने  इसका कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया । अधिकारियों से बार-बार पूछे जाने के बावजूद कोई भी स्पष्ट जवाब नहीं दे रहा था। स्थिति स्पष्ट करने से सभी अधिकारी बचते रहे।
      
आज पुलिस की ड्यूटी  शराब की दुकानों पर लगी शराबियों की लंबी-लंबी भीड़ को संभालने में रही । शराब की दुकानों पर  तय रेट से ज्यादा दाम वसूले जाने की शिकायतें रहीं। विरोध के बावजूद भी  लोगों को कोई राहत नहीं मिली । क्योंकि  लठ हाथ में लिए हुए पुलिस वाले  शराब व्यवसायियों के पक्ष में खड़े दिखाई दे रहे थे। शराब और बीयर पर तय मूल्य से ज्यादा दाम वसूलने की शिकायत एक ठेके की नहीं थी । लगभग सभी स्थानों पर यही हाल था।  सेल्समेन  यह कहते सुने गए कि लेना है तो ले लो नहीं तो अब माल  खत्म हो रहा है । मजबूरी में आदमी अपने नशे को  पूरा करने के लिए  मनमाने दाम दे रहा था। शाम को आवकारी विभाग की नींद टूटी और भौपुरा चैक पर रूपेश कुमार चैहान की दुकान पर छापा मार कर तय रेट से ज्यादा दाम बसूलने की शिकायत पर जांच पड़ताल की। 




Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment