MSME को बिना गारंटी के 3 लाख करोड़ रुपए का लोन दिया जाएगा: निर्मला सीतारमण Rs 3 lakh crore loan will be given to MSME without guarantee: Nirmala Sitharaman





                                                       शांतिदूत न्यूज नेटवर्क 

नयी दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 20 लाख करोड़ रुपए के प्रोत्साहन पैकेज का ब्योरा देते हुए कहा कि समाज के कई वर्गों के साथ व्यापक विचार-विमर्श करने के बाद प्रधानमंत्री ने एक व्यापक दृष्टिकोण को आपके सामने रखा। उन्होंने कहा कि आर्थिक पैकेज के जरिए ग्रोथ को बढ़ाना है। भारत को आत्मनिर्भर बनाना है। इसीलिए इसे आत्मनिर्भर भारत अभियान कहा जा रहा है।

वित्त मंत्री ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के पांच स्तंभ-अर्थव्यवस्था, बुनियादी ढाँचा, सिस्टम, डेमोग्राफी और डिमांड हैं। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत होने का मतलब दुनिया के अन्य देशों से अपने को काटना नहीं है।

इस बीच वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि कोविड-19 के चलते मोदी सरकार ने जो पहला कदम उठाया वो प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के रूप में लेकर आए। देश के गरीब को भूखा न रहना पड़े इसलिए 1,70,000 करोड़ का ये पैकेज माननीय वित्त मंत्री जी ने आपके सामने रखा था।

वित्त राज्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कल 20 लाख करोड़ रुपये के ऐतिहासिक पैकेज की घोषणा की है। उन्होंने हमें निर्देश दिया है कि प्रतिदिन अलग-अलग सेक्टर के आधार पर हम आप लोगों की उस पैकेज की जानकारी देंगे। 

आर्थिक पैकेज की बड़ी बातें :

  • वित्त मंत्री ने कहा कि बिजली वितरण कंपनियों के समक्ष गंभीर संकट को देखते हुए 90,000 करोड़ रुपए की आपात नकदी उपलब्ध करायी जाएगी।
  • वित्त मंत्री ने कहा कि एनबीएफसी को आंशिक क्रेडिट गारंटी योजना के जरिये 45,000 करोड़ रुपये की नकदी उपलब्ध करायी जाएगी।
  • गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों, आवास वित्त कंपनियों और एमएफआई (सूक्ष्म वित्त संस्थान) के लिए 30,000 करोड़ रुपए के धन के उधार की सुविधा
  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि वृद्धि क्षमता रखने वाली लघु और मझोली इकाइयों में एमएसएमई मेंएमएसएमई फंड ऑफ फंड के जरिये 50,000 करोड़ रुपये कीशेयर पूंजी डाली जाएगी। 
  •  वित्त मंत्री ने कहा कि एमएसएमई को दिये जाने पर कर्ज को लौटाने के लिये एक साल की मोहलत दी जाएगी, दबाव वाले एमसएएमई को 20,000 करोड़ रुपए का (बिना गारंटी के) कर्ज दिया जाएगा, इससे 2 लाख एमएसएमई लाभान्वित होंगे। 
  • वित्त मंत्री ने कहा कि संकट में फंसे एमएसएमई के लिए 20 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है।
  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि एमएसएमई के लिए 6 मेजर स्टेप उठाए जा रहे हैं।
  • एमएसएमई को 3 लाख करोड़ रुपए का बिना गारंटी के लोन दिया जाएगा। इससे 45 लाख एमएसएमई को फायदा होगा।


Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment