लखीमपुर मे युवक की पुलिस द्वारा बर्बर पिटाई के बाद आत्महत्या की घटना की केवाईएस करता है कड़ी भ्रत्सना Jóvenes golpeados brutalmente por la policía





अब तक आरोपी कांस्टेवल पर कोई कार्रवाई नहीं

केवाईएस ने इस घटना के जिम्मेदार सभी पुलिसकर्मियों को तुरंत बर्खास्त और उनको कड़ी सजा सुनिच्छित करने की मांग उठाई

                                                                विशेष संवाददाता 

नई दिल्ली । बीते दिन लॉकडाउन के दौरान यूपी के लखीमपुर खीरी जिले में पुलिस की पिटाई के बाद गुड़गांव से लौटे एक दलित कामगार युवक ने आत्महत्या करने की बात सामने आई है, जो पुलिस और प्रशासन के बर्बर रवैये को बेनकाब करता है।  क्रांतिकारी युवा संगठन (केवाईएस) ने लॉकडाउन के दौरन हो रहे पुलिस और प्रशासन की बर्बरता की कड़ी निंदा करते हुए आरोपी पुलिसकर्मी को बर्खास्त करने और उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग करता है।

जैसा कि रिपोर्ट बताते हैं, बीते रविवार को एक दलित कामगार युवक गुड़गांव से अपने घर लौटा था, जिसके बाद उसे कोरोना के डर से गांव के स्कूल में अलग बंद करके रखा गया था। इसी बीच घर में राशन खत्म हो जाने की वजह से वह गेंहू पिसवाने गया था, जिसकी खबर मिलने पर पुलिसवाले ने दुकान में जाकर उसे बुरी तरह से पीटा और उसकी वीडियो भी बनाई। अनूप कुमार सिंह नामक इस पुलिसवाले की बर्बर पिटाई से दलित कामगार का दाहिना हाथ काम करना बंद कर दिया था। बताया जाता है कि उसने पुलिसवालों से मदद की भी गुहार लगाई, परंतु उन्होंने उसकी कोई भी मदद नहीं की। जिससे मानसिक और शारीरिक रूप से घायल होने के कारण युवक ने रात को खुदकुशी की थी।

पुलिस की इस बर्बर और संवेदनहीन कार्रवाई के खिलाफ गांव-वालों में धरना प्रदर्शन करते हुए कांस्टेवल के खिलाफ केस दायर करने की मांग की। परंतु इन सभी घटनाओं से बेखबर पुलिस प्रशासन ने आरोपी कांस्टेवल कोई केस दायर नहीं किया। अब तक मिली रिपोर्ट के अनुसार आरोपी के खिलाफ सिर्फ जांच का आदेश दिया गया है। ज्ञात हो कि लॉकडाउन का पालन करवाने के नाम पुलिस देश भर में आम लोगों से साथ बर्बरता दिखा रही हैद्य केवाईएस यह मांग करता है घटना के आरोपी कांस्टेवल एवं अन्य पुलिसवालों के खिलाफ जल्द से जल्द कड़ी कार्रवाई की जाए। साथ ही पूरे देश में सड़कों पर अपने घर जाने को मजबूर कामगारों से अपराधियों की तरह हो रहे बर्ताव और पुलिसिया बर्बरता को तुरंत बंद करने की मांग करता है।


Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment