ईसाई मिशनरी, वामपंथी गतिविधियाँ हैं हिन्दू संतों पर हमलों की जननी: विहिप Christian missionaries, leftist activities are the mother of attacks on Hindu saints: VHP




                                                       शांतिदूत न्यूज नेटवर्क 

नयी दिल्ली ।  विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) ने महाराष्ट्र के पालघर के बाद पंजाब में भी एक संत दण्डी स्वामी पुष्पेन्द्र जी महाराज पर हुए जानलेवा हमले पर गहरा रोष व्यक्त किया है और दोषियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर चिंता जतायी है।

विश्व हिन्दू परिषद के केन्द्रीय महामंत्री मिलिन्द परांडे ने यहां एक वक्तव्य में कहा कि ईसाई मिशनरियाँ एवं वामपंथी गतिविधियाँ ही भारत में पालघर जैसी घटनाओं की जननी हैं। भारत एक धर्म प्राण देश है लेकिन फिर भी इन दोनों के सतत् वैचारिक और शारीरिक हमलों के कारण आज देश आहत है। पालघर के मुख्य आरोपियों के बाद अब पंजाब सरकार द्वारा भी हमलावरों की अभी तक गिरफ्तारी ना किया जाना बेहद चिंतनीय है।

उन्होंने कहा कि संपूर्ण प्राणी मात्र में दया भाव रखने वाले संतो पर बढ़ रहे जानलेवा हमले हिंदू समाज के लिए बहुत ही चिंता का विषय हैं। उन्होंने कहा कि यह गौर करने वाली बात है कि देश के जिन क्षेत्रों में ईसाई मिशनरियों की गतिविधियां तीव्र हैं और उन्हें वामपंथियों का प्रचार एवं सहयोग प्राप्त है वहां वहां संतों और हिन्दू मानबिन्दुओं को अधिक निशाना बनाया जा रहा है।

विहिप महामंत्री ने यह भी कहा कि पंजाब के होशियारपुर में हुए जानलेवा हमले की विहिप घोर निंदा करते हुए मांग करती है कि राज्य सरकार दोषियों को अविलम्ब गिरफ्तार कर कठोरतम दण्ड सुनिश्चित करे।


Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment