दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में लूटपाट और वाहन चोरी करने वाला गिरोह गिरफ्तार Gang robbery and vehicle theft arrested in Delhi NCR region




   वाहन चोरी/लूट की वारदात करने वाला गिरोह की जानकारी देते एसपी सिटी साथ में बैठे  सीओ साहिबाबाद।

                                                                  सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो 

साहिबाबाद । थाना लिंक रोड पुलिस ने एसएसपी गाजियाबाद के आदेश पर वाहन चोरों और लुटेरों के खिलाफ चलाए गए अभियान के अंतर्गत रविवार की रात को 4 सदस्य लुटेरों के एक गिरोह को गिरफ्तार  किया है जो लूट के अलावा वाहन चोरी की वारदातों को अंजाम देता है तथा इस गिरोह की अगली योजना कासगंज में एक ज्वेलरी शॉप को लूटने की थी।

थाना लिंक रोड पर आयोजित प्रेस वार्ता में एसपी सिटी मनीष मिश्रा ने पत्रकारों को बताया कि सीओ साहिबाबाद डॉ राकेश कुमार मिश्रा के निर्देशन में थानाध्यक्ष लिंक रोड देवेन्द्र सिंह विष्ट के नेत्रृत्व में एक पुलिस पार्टी  बदमाशों के खिलाफ अभियान चला रही थी ,तभी पुलिस को सूचना मिली थी कि एक लुटेरों का गिरोह क्षेत्र में आने वाला है जो लूटपाट की घटनाओं के अलावा वाहन चोरी की वारदातों को अंजाम देता है । इस सूचना पर कार्रवाई करते हुए एक चार सदस्यीय बदमाशों के एक गिरोह को गिरफ्तार करने में पुलिस को सफलता मिल गई । गिरफ्तार बदमाशों के नाम शेर मोहम्मद उर्फ शेरा पुत्र नानू खां निवासी ग्राम दालौर थाना बहजोई जिला संभल है ,हाल निवासी हन्सा का मकान कनावनी इंदिरापुरम, आसिफ अली उर्फ काला पुत्र शराफत अली निवासी शमशाद चैधरी पब्लिक स्कूल के सामने गरिमा गार्डन थाना टीला मोड़ क्षेत्र, तीसरा सुबोध उर्फ पव्वा पुत्र पप्पू सिंह निवासी नगला भरसूली थाना ढोलना जिला कासगंज हाल पता पीतम सिंह का मकान आम्रपाली स्कूल के पास कनावनी पुश्ता थाना इंदिरापुरम तथा सोनूपाल पुत्र बाबूलाल निवासी गांव नियाज अली खेड़ा थाना आसमन जिला उन्नाव है। यह भी फिलहाल पीतम सिंह के मकान में कनावनी पुस्ते के पास किराए पर रहता है।
        एसपी सिटी ने बताया कि यह गिरोह कासगंज स्थित मशहूर राजपूत ज्वेलर्स गढ़ी रोड में लूट की योजना बना रहा था, जिसे नाकाम कर दिया गया है। इस गिरोह से एक वैगनआर कार टीवीएस अपाचे मोटरसाइकिल, दो  स्कूटी सहित आठ चोरी के वाहन, अवैध हथियार, मोबाइल फोन तथा 2 किलो 80 ग्राम नशीला पदार्थ डोडा के अलावा वाहन चुराने और वाहनों के लॉक  तोड़ने के उपकरण बरामद हुए हैं। इस गिरोह की गिरफ्तारी से छह अपराधिक वारदातों का खुलासा हुआ है। पुलिस की पूछताछ में इस गिरोह ने स्वीकार किया कि वे लोग कई बार विभिन्न थानों से जेल जा चुके हैं तथा इससे पहले ओला कैब  की कार एक्सेंट व ऑटो चलाते थे जिसमें रात हो घूमकर उसमें सबारी बिठाते थे और फिर उनसे नगदी आदि लूट लेते थे। चोरी किए गए वाहनों को 8 से 10हजार में बेच देते थे।  इस गिरोह को गिरफ्तार करने में कोतवाल देवेंद्र सिंह विष्ट,एस आई मानवेन्द्र सिंह व अंशुल कुमार ,हेड कांस्टेबल कृष्णवीर सिंह व केयर सिंह के अलावा कांस्टेबल विवेक भारद्वाज थे। एसपी सिटी ने बताया कि वे इस महत्वपूर्ण सफलता के लिए एसएसपी गाजियाबाद कलानिधि नैथानी को एक अनुशंसा पत्र लिखकर गिरफ्तार करने वाली टीम को 10हजार नगद इनाम देने के लिए कहेंगे।





Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment