स्वच्छ भारत अभियान को मुंह चिढ़ाती गंदगी Clean India campaign teasing dirt




                                                सर्विस लेन में गंदगी का दृश्य। 

                                                            सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो 

साहिबाबाद। गाजियाबाद नगर निगम के स्वच्छ भारत अभियान को पलीता लगाने के लिए नगर निगम गाजियाबाद स्वयं जिम्मेदार है। लोगों का आरोप है कि नगर निगम गाजियाबाद के अधिकारियों  की अनुभवहीनता और क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति नहीं जानने के कारण श्याम पार्क मेन ही नहीं अन्य कॉलोनियों की भी दशा खराब हो रही है तथा गंदा पानी सड़कों पर बह रहा है। 
                    
जानकारी के अनुसार नगर निगम गाजियाबाद के अधिकारियों की अनुभवहीनता  की वजह से श्याम पार्क मैन का नाला उल्टा नालियों की और पानी बहा रहा है। इसका सबसे ज्यादा प्रभाव नेशनल पव्लिक स्कूल के उत्तर में सिथत सर्विस लेन पर पड़ रहा है। जहां एक और नगर निगम के अधिकारी एक व्यक्ति द्वारा नाले के निर्माण के संबंध में दिए गए अदालत के स्थगन आदेश को हटवा पाने में असमर्थ हैं वही उनकी अनुभव हीनता ने कॉलोनी को नर्क बना दिया है। नाले का उल्टा पानी नालियों में बह कर आरहा है। एक तो राजेंद्र नगर औद्योगिक क्षेत्र का गंदा पानी तेज बहाव के साथ श्याम पार्क मेन के नाले का बहाव अवरुद्ध कर रहा है वही नगर निगम गाजियाबाद के जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा समस्या की अनदेखी करने से लोगों का जीवन नारकीय हो गया है। 
       
एक और जहां प्रधानमंत्री भारत सरकार नरेंद्र मोदी स्वच्छ भारत अभियान चला रहे हैं वहीं गाजियाबाद नगर निगम के अधिकारियों को अपने क्षेत्र में गंदगी नहीं दिख रही।  सेनेटरी एवं फूड इंस्पेक्टर हृदेश कुमारी पर क्षेत्र का भ्रमण नहीं करने का आरोप है। इस वजह से क्षेत्र में जगह-जगह गंदगी जलभराव  आदि की समस्याएं फलफूल रही है। दूसरे नगर आयुक्त से लेकर सनैटरी  इंस्पेक्टर तक  क्षेत्रों का दौरा नहीं करते । 
             
श्याम पार्क मेन हिंडनपार क्षेत्र की सबसे पुरानी कॉलोनी है  लेकिन आज तक  किसी भी अधिकारी ने  इस कॉलोनी में आकर  लोगों की समस्याएं नहीं देखी।  एक और जहां गंदा पानी लोगों के जीवन को नरक बना रहा है दूसरी और लोगों को पीने के लिए नगर निगम का पानी नहीं मिल रहा।  यह  वार्ड 60 के लोगों का दुर्भाग्य है । स्थानीय लोगों का कहना है कि अगर गाजियाबाद नगर निगम ने गंदगी से निजात दिलाने की शीघ्र मुकम्मल व्यवस्था नहीं की तो वे जन आंदोलन करेंगे तथा अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे।




Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment