कड़कड़ मॉडल में दो पार्क,दोनों हैं बुरेहाल There are two parks in the Kadkar model, both are bad



                                                                                                     प्रतिकात्मक फोटो

                                                     सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो 

साहिबाबाद। औद्योगिक क्षेत्र साहिबाबाद के बीचो बीच बसा गांव कड़कड़ मॉडल बुनियादी सुविधाओं से महरूम है। यहां बच्चों के खेलने और बड़ों के टहलने की कोई व्यवस्था नहीं है। दो पार्क तो हैं लेकिन हैं दोनों बदहाल।
            
कड़कड़ मॉडल गांव निवासी ठाकुर अरुण तोमर ने मुख्यमंत्री के जनसुनवाई पोर्टल पर लिखी शिकायत में बताया है कि कड़कड़ गांव में दो पार्क हैं दोनों ही की हालत खराब है। न उनमें बच्चों के खेलने जगह हैं ना बड़ों के बैठने या टहलने की व्यवस्था। ना उसमें हरियाली है ना पेड-पौधे। न पानी देने का ट्यूबवेल है जिससे पेड़ पौधे उगाए जा सकें। पार्क के नाम पर एक मैदान भर है जिसमें गड्ढे हैं तथा बिजली के तारों का मकड़जाल है।  पार्क में न तो मनोरंजन का इंतजाम है न रात में प्रकाश व्यवस्था । पार्क में आवारा पशु घूमते रहते हैं तथा इधर उधर के लोग वहां कब्जा करके बैठे रहते हैं जिससे पार्क जैसा वहां कोई माहौल नहीं है।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment