लोक शिक्षण अभियान ट्रस्ट ने 'महला जागरण - उत्थान दिवस' के रूप में सावित्री बाई फुले को किया याद Lok Shiksha Abhiyan Trust




  • ट्रस्ट ने पचास महलाओं को किया सम्मान
  • समाजसेवी व पत्रकारों को पुरस्कृत किया गया 


                                                सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो  


साहिबाबाद ।  “लोक शिक्षण अभियान ट्रस्ट” द्वारा भारत की प्रथम शिक्षिका, क्रान्तिकारी महिला, सामाजिक क्रांति की ज्योति, श्रद्धेय सावित्री बाई फुले का जन्म-दिवस समारोह “महिला जागरण-उत्थान दिवस” के रूप में मनाया गया । यह कार्यक्रर्म महात्मा गाँधी हाल के प्रांगण हर्षा कंपाउंड, मोहन नगर इंडस्ट्रियल एरिया एस-52 में आयोजित किया गया।  कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रख्यात कवि जगदीश पंकज थे तथा अध्यक्षता ज्योति चेट्टी महासचिव आशादीप फौंडेशन ने किया। आयोजन इंजी0 धीरेन्द्र यादव के द्वारा किया गया तथा संचालन अनिल मिश्र ने किया।  कार्यक्रम को समाजवादी पार्टी के पूर्व विधान-सभा प्रत्याशी वीरेन्द्र यादव एडवोकेट ने सम्बोधित किया। कार्यक्रम में पचास महिलाओं को शाल ओढाकर श्रीमती फूलमती यादव, डा0 सरोज यादव ने सम्मानित किया। पत्रकार बन्धुओं को पुरस्कृत किया गया।  विशिष्ट अतिथि डा0 सपना बंसल, डा0 अनिल कुमार दृष्टि वाधित ने भी सम्बोधित किया। सैकड़ों महिलाओं व गणमान्य साथियों ने सावित्री बाई फुले के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें स्मरण किया। संस्था के अध्यक्ष राम दुलार यादव वरिष्ट सपा नेता ने समारोह में शामिल सभी अतिथियों का अभिनन्दन किया।  
   

वीरेन्द्र यादव एडवोकेट ने समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि सावित्री बाई फूले का लक्ष्य छुवा-छूत मिटाना, महिलाओं, दलितों को शिक्षित करना, विधवा विवाह कराना, महिलाओं को रूढ़िवाद, अन्याय, अत्याचार, अमानवीय व्यवहार से मुक्ति दिलाना था। वह जान गयी थी कि जिस धर्म में इतनी संकीर्णता है, कि कुत्ते, बिल्ली के छूने पर रुढ़िवादी समाज अपवित्र नहीं होता, उन्हें गले लगाता है, गो मूत्र को पवित्र मानकर उसका सेवन करता है, लेकिन वह मानव के छूने मात्र से अपवित्र हो जाता है, हमें इस पाखण्डी व्यवस्था का समूल नाश लोगों को शिक्षित करके करना है। शिक्षा के साथ उन्होंने समाज सुधार का भी कार्य किया, हमे उनसे प्रेरणा लेनी चाहिए। 
   
समारोह में सी0 पी0 सिंह, एस0 पी0 छिब्बर, डा0 देव कर्ण चैहान, डा0 सभापति शास्त्री, राम प्यारे यादव, श्रीमती संगीता त्यागी, डा0 सरोज यादव, रहमत अली, विनोद कुमार त्रिपाठी, विजय भाटी, ब्रह्म प्रकाश, कृष्ण कुमार दीक्षित, ओम प्रकाश अरोड़ा, वीर सिंह सैन, मंगल सिंह चैहान, एस0 एन0 जायसवाल, सम्राट सिंह यादव, कमलेश सैन, मिथिलेश सैन, रानी सैन, कविता जाटव, उर्मिला कश्यप, फूलमती यादव, अनीता सिंह, दयावती, विजय मिश्र, जगतार सिंह भट्टी, संजू शर्मा, पूनम तिवारी, सुधा ठाकुर, कमला, डा0 नीतू जैन, डा0 वन्दना तंवर, बिंदु राय, बीना अत्री, रेनू, मीना सिंह, डा0 सपना बंसल, डा0 अनिल कुमार, डा0 अशोक कुमार, गरिमा यादव, गजल परवीन, सिंकू, सरिता, राजपाल यादव, रूबी परिहार, ममता, गीता देवी, शालिनी, आरती, खुशी, अंजलि, अंशु, सावित्री देवी, अवधेश यादव, अंशु ठाकुर, शिवानन्द चैबे, गुड्डू यादव, उपेन्द्र यादव, रविन्द्र यादव, संजय सिंह, किशन पाल यादव, विक्की ठाकुर, अजय बीर, शम्भू नाथ यादव, प्रेम चन्द पटेल, राजीव गर्ग, हिमांशु सैनी, अमर बहादुर यादव, सुभाष यादव, आदि प्रमुख लोग शामिल रहे । 


Share on Google Plus

0 comments:

Post a comment