गाजियाबाद में बढ़ते प्रदूषण को लेकर डीएम की बड़ी पहल DM's big initiative about rising pollution in Ghaziabad



  • प्रथम चरण में वायु प्रदूषण को कम करने के उद्देश्य से कार्य योजना होगी तैयार।
  • जनपद के रिसॉर्स को जोड़कर सर्वे का कराया जाएगा कार्य।
  • प्रदूषण विभाग के माध्यम से वायु प्रदूषण को मापने के लिए स्थापित कराए जाएंगे यंत्र।
  • सर्वे कार्य में जो इंजीनियर कॉलेज एवं छात्र अच्छा प्रदर्शन करेंगे या सुझाव देंगे उन्हें प्रशासन का बनाया जाएगा पार्टनर।
  • प्रदूषण फैलाने वाली इकाइयों के विरुद्ध होगी कड़ी कार्यवाही आईपीसी की धाराओं में मुकदमा किया जाएगा दर्ज।


गाजियाबाद।  जिला अधिकारी अजय शंकर पांडेय के द्वारा जनपद गाजियाबाद की विकट समस्या प्रदूषण पर नियंत्रण करने के उद्देश्य से एक नई पहल शुरू करते हुए प्रदूषण विभाग के अधिकारियों के माध्यम से कार्य योजना तैयार कराई जा रही है ताकि प्रथम चरण में जनपद में वायु प्रदूषण पर नियंत्रण किया जा सके। 

कार्य योजना के तहत प्रदूषण विभाग में स्टाफ की कमी होने के कारण वायु प्रदूषण फैलाने वाली इकाइयों एवं संस्थानों को चिन्हित करने के उद्देश्य से सर्वे का कार्य जनपद के रिसॉर्स जैसे इंजीनियर कॉलेज उनमें पढ़ने वाले बच्चों को जोड़कर कराया जाएगा। जिनके द्वारा पॉलिथीन जलाने से होने वाला वायु प्रदूषण, धूल के उड़ने से होने वाला वायु प्रदूषण, औद्योगिक इकाइयों के द्वारा कोयला जलाकर धुएं के माध्यम से वायु प्रदूषण, औद्योगिक इकाइयों द्वारा गत्ते एवं अन्य मेटल जलाकर करने वाले वायु प्रदूषण तथा उससे कम वायु प्रदूषण करने वाली औद्योगिक इकाइयों का सर्वे का कार्य संपन्न कराया जाएगा। इस कार्य में जो इंजीनियर कॉलेज एवं स्कूली छात्र अच्छा कार्य करेंगे या वायु प्रदूषण कम करने के लिए अच्छे सुझाव देंगे उन्हें प्रशासन का सहभागी घोषित करते हुए इस कार्ययोजना को आगे बढ़ाया जाएगा।

जिलाधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया है कि सर्वे कार्य पूर्ण होने पर जहां जहां पर वायु प्रदूषण फैलाया जा रहा है उन्हें एडवाइजरी के माध्यम से उसे बंद करने की सलाह प्रदान की जाएगी, उसके उपरांत औद्योगिक इकाइयों एवं संस्थानों के द्वारा वायु प्रदूषण रोकने के लिए अपने यहां कार्यवाही सुनिश्चित नहीं की जाएगी तो उनके विरूद्ध प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के के द्वारा अपने अधिनियम के तहत तो कार्रवाई की जाएगी उसके साथ साथ आईपीसी की धाराओं में भी मुकदमा दर्ज कराते हुए जिला प्रशासन सख्त कार्यवाही सुनिश्चित करेगा। इस संबंध में प्रदूषण विभाग के द्वारा जनपद के वायु प्रदूषण को मापने के उद्देश्य से मापन यंत्र की स्थापना विभिन्न स्थानों पर की जाएगी ताकि वायु प्रदूषण के संदर्भ में निरंतर रूप से जानकारी प्राप्त होती रहे। राकेश चैहान जिला सूचना अधिकारी गाजियाबाद।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment