लूटा गया धन कांग्रेस के बिस्तर, तकिये से निकाला इसलिए राहुल परेशानः भाजपा Looted money was removed from Congress's bed, pillows, why Rahul is upset: BJP



रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. विजय सोनकर शास्त्री ने कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला और जयवीर शेरगिल द्वारा नोटबंदी, आतंकवाद और नक्सलवाद के संबंध में लगाये गये आरोप पर पलटवार करते हुए कहा है कि देश तोड़ने वाली ताकतों और बेकसूर लोगों को मारने वाले नक्सलियों को क्रांतिकारी कहने वाले कांग्रेसी जनता को कितना भी भ्रमित करने की कोशिश कर ले, जनता कांग्रेस और कांग्रेसियों की रग-रग से वाकिफ होकर इन्हें घर बैठा चुकी है और इनके सौ बार, हजार बार, करोड़ बार बोलने पर भी झूठ सच में बदलने वाला नहीं है। 

शास्त्री ने कहा कि कांग्रेस ने 55 साल तक देश और देश की जनता को लूट कर तिजोरियां भरीं और कालाधन जमा किया। खुद राजीव गांधी अपने प्रधानमंत्रित्व काल में यह कबूल कर चुके हैं कि दिल्ली से चलने वाला पैसा जनता तक पहुंचते-पहुंचते 15 पैसे रह जाता है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लूटे गए इसी 85 पैसे को कांग्रेस और कांग्रेस के मित्रों के बिस्तर और तकिये से बाहर निकालने के लिए नोटबंदी जैसा साहसिक कदम उठाया।

शास्त्री ने कहा कि नोटबंदी के फैसले से समूचे विश्व में भारत का कद बढ़ा और सारी दुनिया को पता चल गया कि भारत में समर्थ सरकार देश चला रही है। नोटबंदी से देश की जनता को हुए फायदे कांग्रेस को नजर नहीं आते बल्कि इस फैसले से कांग्रेस और कांग्रेस के मित्रों को हुए नुकसान का रंज सता रहा है। इसलिए सोते जागते इन्हें नोटबंदी की याद आती है क्योंकि नोटबंदी से काले धन की आवाजाही के सारे रास्ते बंद कर दिये गये। उन्होंने कहा कि नोटबंदी से देश में डिजीटल लेनदेन बढ़ा और महंगाई पर लगाम कसी।

शास्त्री ने कहा कि जब नारे लगते हैं कि भारत तेरे टुकड़े-टुकड़े होंगे, इन्सा अल्ला, इन्सा अल्ला। तब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मौन व्रत धारण कर लेते हैं और जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की हत्या का षड्यंत्र रचने वाले शहरी माओवादी गिरफ्त में आते हैं तो राहुल उनके लिए हमदर्दी जताने लगते हैं। 'आम लोगों और सुरक्षा बलों पर बारूदी हमला करने वालों को कांग्रेसी क्रांतिकारी की संज्ञा देते हैं। यह है कांग्रेस और कांग्रेसियों की हकीकत।'

उन्होंने कहा कि 55 साल तक देश को लूटने वाले और जनता को नारकीय जीवन जीने पर मजबूर करने वाले कांग्रेसियों की झोली में विचार और संस्कार नहीं बल्कि समाज विरोधी, विकास विरोधी, देश विरोधी ताकतों का समर्थन करने वाले विकार भरे हुए हैं और कांग्रेस की पूरी राहुल मंडली घूम-घूमकर झूठ का प्रचार कर रही है।


Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment