निजी हित में ‘मी टू कैम्पेन’ का उपयोग दुखद: सुभाष घई Use of 'me to campaign' in personal interest is sad: Subhash Ghai



नयी दिल्ली।  माने फिल्म निर्माता एवं निदेशक सुभार्ष घई ने रविवार को कहा कि वह ‘मी टू कैम्पेन’और नारी सशक्तिकरण के बड़े समर्थक हैं लेकिन इसके माध्यम से निजी हितों को पूरा करने के लिए लोगों को निशाना बनाना चिंताजनक और दुखद है।
श्री घई (73) ने यह टिप्पणी अपने ऊपर लगाये गये आरोपों के बाद दी है। माॅडेल-अभिनेत्री केट शर्मा ने इस अभियान के तहत उन पर यौन शोषण के आरोप लगाये हैं। श्री घई ने ट्वीट किया,“ मैं इस अभियान का बड़ा समर्थक हूं लेकिन मुझे डर है कि लोग क्षणिक ख्याति के लिए इसका उपयोग करके इसके महत्व को खत्म कर देंगे। कुछ लोग मेरे सम्मान को ठोस पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं जो बेहद दुखद है। मेरे वकील इन मामलों को देखेंगे ।”
केट शर्मा ने श्री घई पर यौन शोषण का मामला दर्ज कराया है। अभिनेत्री ने उन पर आरोप लगाया है कि इस वर्ष छह अगस्त को उन्होंने अपने घर बुलाकर उसे जबरन आलिंगनबद्ध करने की कोशिश की। इससे पहले श्री घई पर एक और महिला ने आरोप लगाया था। महिला ने अपने बयान में कहा था कि श्री घई ने उसके पेय पदार्थ में नशीला पदार्थ मिलाकर उसका यौन उत्पीड़न किया था। इससे पहले नाना पाटेकर से लेकर साजिद खान तक बॉलीवुड के कई लोगों पर यौन उत्पीड़न का आरोप लग चुका है। 
पुलिस ने इस मामले में केट शर्मा की प्राथमिकी दर्ज कर ली है।



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment