दशहरा पर राजपूतों ने किया शस्त्र पूजन Rajputs performed weapons worship at Dussehra



           शस्त्र पूजन के बाद शस्त्र पूजा पर प्रकाश डालते संस्था के एक पदाधिकारी सतीश दाहिमा।
वसुंधरा, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  निर्वाण फाउंडेशन द्वारा सेक्टर पांच  वसुंधरा 1231 में  विजयदशमी के उपलक्ष में शस्त्र पूजन का आयोजन किया गया, जिसमें कई प्रदेशों के प्रमुख राजपूत हस्तियों ने भाग लिया। समारोह में शस्त्र पूजन के अवसर पर राजपूतों के शौर्य और उनके बलिदान पर प्रकाश डाला गया। इसके अलावा राजपूत सभा साहिबाबाद ने राजेन्द्र नगर में यज्ञ के बाद शस्त्र पूजन किया। 
       
निर्वाण फाउंडेशन के संस्थापक अध्यक्ष वेद प्रकाश सिंह चैहान ने बताया कि उनकी संस्था सामाजिक कार्यों में  भाग लेने के अलावा  राजपूतों के शौर्य और बलिदान के इतिहास को खंगाल रही है। संस्था का काम शहीदों की पुत्रियों की शादी में सहयोग करना,राजपूतों के इतिहास का अध्ययन और उनके विषय में सही जानकारी समाज में देना है । संस्था अब तक राजस्थान में शहीदों की दो पुत्रों की शादी करा चुकी है  आगे से  वह बिना निमंत्रण के  पता लगते ही  शहीदों की कन्याओं की शादी करवाने के लिए काम करती रहेगी। संस्था ने विजयादशमी को शस्त्र पूजन के साथ समाज को यह संदेश दिया है कि राजपूत आज भी देश की रक्षा करने के लिए सीमा पर जाने को तैयार है। इसके अलावा समाज के कमजोर और उपेक्षित वर्ग की रक्षा करने के लिए शस्त्र उठाने में कभी पीछे नहीं रहेगा । राजपूतों ने जब भी शस्त्र उठाया है समाज की सेवा में ही उठाया है। कभी किसी के प्रति हिंसा नहीं की।
       
इस अवसर पर समारोह की अध्यक्षता गोपाल सिंह शेखावत आईपीएस तथा संचालन भागीरथ सिंह निर्वाण आईएएस एवं सवाई सिंह निर्वाण उपाध्यक्ष ने किया । समारोह में उपस्थित प्रमुख लोगों में  राजेंद्र सिंह शेखावत पत्रकार, ओनार्ड सिंह शेखावत, सुमेर सिंह निर्माण, महेंद्र सिंह नोएडा से, दिल्ली से जेपी ठाकुर ,अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष कु.अजय सिंह, आवास विकास के पूर्व अधिकारी सीपी सिंह ,नोएडा से राकेश चैहान , एडवोकेट टीपी चैहान, केपी सिंह पूर्व विधायक,  वीएस राणा, सत्यपाल सिंह चैहान आदि ने भाग लिया।
       राजपूत सभा के आयोजन में समाजसेवी सत्यपाल सिंह चैहान ने वैदिक रीति से यज्ञ कराया तथा बाद में राजपूती परम्परा के द्वारा शस़्त्र पूजन किया गया। संस्था के अध्यक्ष विनोद शिशौदिया की अध्यक्षता में एक सभा हुई जिसमें राजपूत समाज के सभ्रांत लोगों ने अपने विचार रखे।






Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment