डा0 लोहिया के विचार मानव-जाति के उत्थान के लिए सदैव प्रासंगिक रहेंगेंः एडवोकेट विरेन्द्र यादव Dr. Lohia's thoughts will always be relevant to the upliftment of the human race: Advocate Virendra Yadav



                                                         डा0 लोहिया के पुण्य तिथि 

साहिबाबाद, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  समाजवादी पार्टी  के कार्यालय 1, स्वरूप पार्क  पर महान स्वतंत्रता सेनानी, समाजवाद के पुरोधा, निर्भीक वक्ता, पाखण्ड, भ्रम, अन्धविश्वास के घोर विरोधी डा0 राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि समाजवादी नेता वीरेन्द्र यादव एडवोकेट के नेतृत्व में मनायी गयी। कार्यक्रम की अध्यक्षता डा0 देवकर्ण चैहान ने किया। 

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता रामदुलार यादव भी कार्यक्रम में शामिल रहे। आयोजन इंजी0 धीरेन्द्र यादव ने तथा संचालन अंशु ठाकुर ने किया।  सैकड़ों समाजवादी पार्टी के साथियों तथा गणमान्य विद्वानों ने ड़ा0 लोहिया के चित्र  पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर फल वितरित किया गया । 
   
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए वीरेन्द्र यादव एडवोकेट ने कहा कि डा0 लोहिया के विचार मानव-जाति के उत्थान के लिए सदैव प्रासंगिक रहेंगें। स्वतन्त्रता के पहले महात्मा गांधी के विचारों से प्रभावित होकर आंदोलन मे कूद पड़े तथा सहयोगियों के साथ अनेकों बार ब्रिटिश हुकूमत की नीतियों के विरोध मे जेल गये, मुंबई में आल इंडिया रेडियो की स्थापना कर अंग्रेजों के खिलाफ भारत की आजादी का बिगुल बजा दिया। ब्रिटिश सरकार बौखला गई तथा भूमिगत आंदोलन चला रहे ड़ा0 लोहिया को गिरफ्तार कर लाहौर जेल में डाल दिया। जेल में अमानवीय यातना दी गयी यहाँ तक कि जब इनकी आँख लग रही होती तुरन्त जेलर डंडा फटकारता। कई दिनों तक आप सोये नहीं अपार यातना झेलते रहे, जब भारत को आजादी मिली तो आप ने कहा कि भारत मे विषमता, गरीबी, लाचारी, अशिक्षा, बेबसी, बीमारी व्याप्त है, अन्याय, शोषण, अत्याचार व अंधकार, भ्रम से आमजन तबाह है। देश का “सर्वांगीण विकास”  समाजवादी व्यवस्था में ही संभव है। ड़ा0 राम मनोहर लोहिया का मानना था कि देश में सम्पूर्ण बराबरी संभव न हो सापेक्ष बराबरी के लिए हमारा संघर्ष जारी रहेगा। उनका नारा “रोटी, कपड़ा सस्ती होगी, दवा, पढ़ाई मुफ्ती होगी”। तभी हम शोषण, अन्याय, अत्याचार मुक्त समाज बना सकते है। आज समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, उ0 प्र0 के पूर्व मुख्यमंत्री  अखिलेश यादव जी समाज के कमजोर वर्गों व महिलाओं को सम्मान देने का कार्य कर डा0 लोहिया के सपनों को साकार करने मे लगे हैं। 
   
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे ड़ा0 देवकर्ण चैहान ने कहा कि “झूठ बोलकर, पाखंड व भ्रम फैलाकर तथा जनता को सम्मोहित कर सत्ता तो प्राप्त हो सकती है, लेकिन राष्ट्र व जनता का कल्याण संभव नहीं। ड़ा0 राम मनोहर लोहिया से केंद्रीय नेतृत्व को प्रेरणा लेनी चाहिए जिन्होंनें आजीवन शोषण मुक्त समाज बनाने तथा संभव बराबरी के लिए संघर्षरत रहे। 
  
राम दुलार यादव ने कहा कि समाजवादी विचारधारा से ही देश मे समता-संपन्नता तथा सहिष्णुता का मार्ग बनेगा, आपसी भाईचारा बढ़ेगा, जातिवाद, सांप्रदायिकता का नाश होगा तभी भारत मजबूत होगा। केंद्र सरकार के मुट्ठीभर पूंजीपतियों का हजारों करोड़ का कर्ज माफ करने से नहीं, कर्जमाफी करनी है तो छोटे उद्योगों को चलाने वाले, किसान, व व्यापारियों का भी कर्ज माफ करो। बेरोजगारी दूर करना चाहिए। आज किसान, नवजवान, व्यापारी हर वर्ग कुंठाग्रस्त हो रहा है, देश की सरकार को इस समस्या पर ध्यान देना चाहिए तथा निराकरण की इच्छाशक्ति रखनी चाहिए। तभी ड़ा0 लोहिया के सपनों का भारत बन सकेगा। 
  
कार्यक्रम में प्रमुख रूप से ड़ा0 देवकर्ण चैहान, गुड्डू यादव, उपेन्द्र यादव, विक्की ठाकुर, अंशु ठाकुर, सर्वेश यादव, कौशलेम्द्र यादव, अवधेश यादव, विकास यादव, राम कुमार चैहान, अशोक यादव, अमन यादव, धीरेन्द्र यादव, विजय मिश्र, अनुराग शुक्ल, विजय भरद्वाज, अमर बहादुर, प्रेमचंद पटेल, हरीशंकर यादव, बाबू राम, सुरेश कुमार भरद्वाज, अखिलेश कुमार शुक्ल, सुभास यादव, रैदास, मो0 हीरा, फूल हसन, मो0 असलम, अब्दुल कलाम, मो0 अनवर, अशरफ, करीमुल्ला, दयाचन्द, हाजी मो0 सलाम, राजीव गर्ग आदि उपस्थित रहे। 
                                                         



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment